उत्तर प्रदेश

मोबाइल लोकेशन से पकड़ में आया सिपाही, पूछताछ में बोला, साहब सिर्फ दो थप्पड़ मारने का गुनहगार हूं…

– एसपी की पूछताछ में सिपाही ने बताया दो थप्पड़ मारे थे

– कफ्र्यू का उल्लघंन करने पर बाइक में बैठने को कहा था

उन्नाव।(आरएनएस) बांगरमऊ में सब्जी विक्रेता फैसल की हत्या का विषय चर्चा में बना हुआ है। पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी द्वारा स्वाट टीम ने नामजद सिपाही विजय चैधरी को गिरफ्तार कर उनके सामने पेश किया। पूछताछ के दौरान  सिपाही रो पड़ा। बेबस हालत में  बोला साहब सिर्फ दो थप्पड़ मारने का गुनहगार हूं। कोरोना कफ्र्यूू उल्लंघन की सूचना पर फैसल के पास गया था। उससे बाइक में बैठने को कहा। इनकार करने पर दो थप्पड़ मार दिए थे। पूछताछ के बाद सिपाही को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया है।

इनसेट – आरोपित विजय चैधारी 2019 बैच का है सिपाही

बांगरमऊ के भटपुरी निवासी सब्जी विक्रेता मोहम्मद फैसल की हत्या में नामजद सिपाही विजय चैधरी बिजनौर के थाना चांदपुर के हल्ला नगला गांव का रहने वाला है। वह वर्ष 2019 बैच का सिपाही है। उसकी व उसके भाई की एक साथ नौकरी लगी थी। दोनों की ट्रेनिंग भी एक साथ हुई थी। विजय चैधरी की तैनाती जिले में और उसके भाई को रायबरेली में पोस्टिंग मिली। पिता पुनीत कुमार पेशे से प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक हैं। आरोपी सिपाही विजय ने मांग की है कि घटना की निष्पक्ष जांच की जाए।

इनसेट – वायर वीडियो से सत्य नही घटना के साक्ष्य

कहा कि घटना के बाद मृतक के भाई सूफियान ने कोतवाली के अंदर फैसल को पीटे जाने का बयान दिया था, जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। कोतवाली में लगे सीसीटीवी के वायरल हुए फुटेज में फैसल को पीटे जाने की बात सामने नहीं आई है। वहीं दूसरे नामजद सिपाही सीमांत चैधरी को लेकर पुलिस ने दावा किया है कि रात्रि ड्यूटी करने के बाद घटना के वक्त सिपाही बैरक में सो रहा था। उसकी मौजूदगी न ही घटनास्थल पर मिली है और न ही कोतवाली के सीसीटीवी फुटेज में वह नजर आया है। एसपी ने बताया कि हर बिंदु पर बारीकी से जांच की जा रही है।

इनसेट – मृतक फैसल कांड की जांच की पांच सदस्यीय टीम गठित

पुलिस की पिटाई से सब्जी विक्रेेता की मौत के बाद बवाल को देखते हुए एसपी ने घटना की जांच क्राइम ब्रांच के निरीक्षक इंद्रपाल सिंह को सौंपी थी। उन्होंने अपनी जांच शुरू की ही थी कि दूसरे दिन ही उन्हें बेहटामुजावर का थानाध्यक्ष बना दिया गया। इनकी जगह पर अब विवेचना क्राइम ब्रांच के दूसरे निरीक्षक रंजीत यादव को सौंपी गई है। एसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि सीओ क्राइम अंजनी कुमार राय के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की पांच सदस्यीय टीम को जांच के लिए लगाया है।

Back to top button