खेल

मुथैया मुरलीधरन ने की बड़ी भविष्यवाणी, बोले- 800 टेस्ट विकेट ले सकता है ये भारतीय गेंदबाज

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन ने कहा कि रवि अश्विन के पास 700-800 टेस्ट विकेट लेने का एक वास्तविक मौका है. फिलहाल, अश्विन के 74 मैचों में 377 विकेट लिए हैं  जिनमें 27 पांच विकेट हॉल शामिल हैं.

34-वर्षीय अश्विन ने अब तक बॉर्डर गावस्कर की चार मैचों की श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन किया हैं. जिस दौरान  जिन्होंने तीन बार स्टीव स्मिथ का विकेट लिया. इस बीच, मुरलीधरन का मानना ​​है कि ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन को उच्चतम स्तर पर 700-800 विकेट हासिल करने में कोई दिक्कत नहीं है.

Ravichandran Ashwin two wickets short of becoming fastest to reach 250 Test wickets - Sports News

दिलचस्प बात यह है कि लियोन अश्विन से एक साल छोटे हैं और उनके पास भारतीय ऑफ स्पिनर की तुलना में 19 अधिक विकेट हैं. 48 वर्षीय मुरलीधरन ने द टेलीग्राफ के लिए माइकल वॉन से बात करते हुए अपनी राय रखी.

मुरलीधरन ने कहा, “अश्विन [जिनके पास 377 टेस्ट विकेट हैं] के पास एक मौका है क्योंकि वह एक महान गेंदबाज है. इसके अलावा, मुझे नहीं लगता कि आने वाला कोई भी युवा गेंदबाज 800 विकेट ले पायेगा. शायद नाथन लियोन इस तक पहुंचने के लिए पर्याप्त नहीं हैं. वह 400 [396] के करीब हैं, लेकिन उन्हें वहां पहुंचने के लिए कई मैच खेलने पड़े हैं.”

द गब्बा में 15 जनवरी से शुरू होने वाला चौथा टेस्ट, लियोन के लिए यादगार साबित होगा. यह खेल टेस्ट क्रिकेट में लियोन का 100 वां और इस टेस्ट में 400 विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की सूची में भी शामिल हो सकते हैं.

मुरलीधरन का यह भी मानना ​​है कि आधुनिक युग के गेंदबाजों को विकेट निकालने के लिए पड़ी मेहनत पड़ती हैं. उनके अनुसार, सफेद गेंद वाले क्रिकेट के विकास ने बल्लेबाजों को अटैकिंग किया है और इसलिए अब  पांच विकेट लेना मुश्किल काम नहीं है.

Muttiah Muralitharan Likely To Be Governor Of Sri Lanka's Northern Province: Report | Cricket News

मुरलीधरन ने आगे कहा, “जब मैं खेलता था तो बल्लेबाज तकनीकी रूप से बहुत अच्छे थे और विकेट सपाट थे. अब, वे तीन दिनों में मैच खत्म करने की कोशिश करते हैं. मेरे दिन में गेंदबाजों को स्पिन हासिल करने के लिए अतिरिक्त काम करना पड़ता था और परिणाम पाने के लिए कुछ जादू करना पड़ता था. आजकल, यदि आप समय की अवधि में लाइन और लम्बाई गेंदबाजी करते हैं, तो आपको पाँच विकेट मिलेंगे. इसकी गारंटी है क्योंकि बल्लेबाज बिना आक्रमण किए लंबे समय तक नहीं रह सकते.”

मुरलीधरन को 133 मैचों में 800 टेस्ट विकेट लेने के बाद क्रिकेट इतिहास का सबसे महान गेंदबाज के रूप में जाना जाता हैं. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर, उन्होंने 1,300 से अधिक विकेट लिए हैं.

Back to top button