देश

मुकेश अंबानी विस्फोटक केस में मिला स्कॉर्पियो लाने वाले का सुराग, जानकारी जुटा रही क्राइम ब्रांच !

मुंबई
उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के यहां स्थित घर के पास विस्फोटकों के साथ गुरुवार को खड़ा पाया गया वाहन पिछले हफ्ते चोरी हो गया था। इसके अंदर से एक पत्र भी मिला है, जिसमें इसे आने वाली चीजों की महज एक झलक बताया गया है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है। एनआईए ने मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच से संपर्क किया है।

पुलिस ने बताया कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष, अंबानी के घर एंटीलिया के पास गुरुवार की शाम एक स्कॉर्पियो खड़ी पाई गई थी। इसमें ढाई किलोग्राम जिलेटिन की छड़ें रखी हुई थी। पुलिस ने बताया कि इसके अंदर तैयार विस्फोटक उपकरण नहीं था और न ही डेटोनेटर और बैटरियां थीं। पुलिस ने बताया कि वाहन की नंबर प्लेट भी अंबानी की सुरक्षा में शामिल एक एसयूवी के समान ही थी। पुलिस को स्कॉर्पियो के अंदर चार नंबर प्लेट मिले, जिनमें दो अंबानी परिवार की सुरक्षा में लगे वाहनों से मिलते-जुलते हैं।

कार का ड्राइवर इनोवा से हुआ फरार
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वाहन के मालिक ने अपनी स्कॉर्पियो (स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल) चोरी हो जाने के बारे में पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज कराई थी। सीसीटीवी फुटेज में दिखा कि एसयूवी गुरुवार की सुबह वहां खड़ी की गई थी और इसका ड्राइवर एक इनोवा में फरार हो गया जो वहां तक साथ आई थी। स्कॉर्पियो और इनोवा दोनों का नंबर प्लेट भी फर्जी पाया गया था। स्कॉर्पियो का चेचीस नंबर भी खुरच दिया गया था।

क्राइम ब्रांच में दर्ज होगा बयान
अधिकारी ने बताया कि वाहन के मालिक हिरेन मनसुख ने टीवी पर देखा कि अंबानी के घर के पास पाया गया वाहन उनकी एसयूवी जैसा ही दिख रहा है, जिसके बाद आज दोपहर वह दक्षिण मुंबई में पुलिस आयुक्त कार्यालय गए। उन्होंने बताया कि उनका (मनसुख का) बयान मुंबई अपराध शाखा की अपराध खुफिया इकाई की ओर से दर्ज किया जाएगा।

मनसुख ने दर्ज कराई थी कार चोरी की शिकायत
ठाणे के रहने वाले मनसुख ने बाद में संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने अपने वाहन की स्टीयरिंग जाम होने पर उसे 17 फरवरी को आइरोली मुलंद पुल के पास खड़ा कर दिया था। उस वक्त वह एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे। उन्होंने बताया कि अगले दिन, जब मैं अपना वाहन लाने गया तो वह वहां नहीं दिखा। इसके बाद मैंने करीब चार घंटे तक उसे ढूंढा। मुझे इसके चोरी हो जाने की आशंका हुई, जिसके बाद मैंने विखरोली पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई।

कार से एक पत्र भी बरामद

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कार से बरामद एक पत्र कथित तौर पर अंबानी, उनकी पत्नी और उनके परिवार को संबोधित है। यह पत्र हिंदी भाषा में है , लेकिन इसे रोमन लिपि में लिखा गया है। पत्र में कहा गया है कि यह एक झलक भर है, लेकिन अगली बार सामान (विस्फोटक) पूरी तरह से तैयार रहेगा। यह पत्र ड्राइवर की सीट के ठीक आगे नीले रंग के थैले में रखा हुआ था, जबकि जिलेटिन की छड़ें इसके निर्माता, ‘सोलर इंडस्ट्रीज, नागपुर’ के नाम से एक पैकेट में रखी हुई थी।

कार से बरामद थैले में छपा था मुंबई इंडियंस

कार से ‘मुंबई इंडियंस’ छपा हुआ एक थैला भी मिला। वहीं, नागपुर के सोलर इंडस्ट्रीज के मालिक सत्यनारायण नुवाल ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि पैकेट मिलने के बारे में उन्हें मुंबई पुलिस का एक कॉल आया है। बयान में कहा गया है कि विस्फोट नियम, 2008 के तहत कंपनी की ओर से विस्फोटकों के उत्पादन एवं बिक्री के सभी डेटा विस्फोट विभाग एवं पुलिस को सौंप दिये गये हैं। बयान में यह भी कहा गया है कि उसकी ओर से तैयार विस्फोटकों (जिलेटिन की छड़ें) में डेटोनेटर के बगैर विस्फोट नहीं किया जा सकता।

गामदेवी पुलिस थाने में अज्ञात लोगों पर एफआईआर
मुंबई पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि गामदेवी पुलिस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई है। मुंबई पुलिस ने मामले की जांच के लिए कम से कम दस टीमों का गठन किया है। उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता की अलग-अलग धाराओं के अलावा विस्फोटक पदार्थ अधनियम, 1908 की संबद्ध धाराएं भी एफआईआर में शामिल की गई हैं।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने किया ट्वीट
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट किया कि मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट एक स्कॉर्पियो गाड़ी में जिलेटिन की 20 छड़ें मिली हैं। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा मामले की जांच कर रही है और जल्द ही जांच के नतीजे सामने आ जाएंगे। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बयान जारी कर ‘त्वरित कार्रवाई’ के लिए मुंबई पुलिस को धन्यवाद दिया। बयान में कहा गया है कि हमें विश्वास है कि मुंबई पुलिस इसकी विस्तृत जांच जल्द पूरी कर लेगी।

Back to top button