देश

मुंबई में शुरु हुई कोरोना की उल्टी गिनती, तीसरी लहर से बचने को गाइडलाइन हुई जारी

मुंबई सहित राज्य में पिछले 2-3 दिन के आंकड़ों पर नजर डालें तो ऐसा लग रहा है कि कोरोना का डाउनफॉल शुरू हो गया है। टेस्टिंग में बढ़ोत्तरी के बावजूद मुंबई में केस कम हुए हैं, जबकि राज्य में नए मामलों में थोड़ी बढ़त देखने को मिली है। संक्रमितों की संख्या में भले ही राहत नजर आ रही है, लेकिन मृतकों की संख्या में ज्यादा कमी नजर नहीं आ रही है।

राज्य में 24 घंटे में 40,956 नए मरीज मिले, 71,969 ठीक हुए
महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान 40,956 नए संक्रमित मिले, 71,969 मरीज ठीक हुए और 793 की मौत हो गई। अब कुल 5 लाख 58 हजार 996 मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्य में अब तक 2.98 करोड़ सैंपल की जांच की जा चुकी है। इनमें 51.79 लाख लोग संक्रमित पाए गए हैं।

सिर्फ मुंबई की बात करें तो बीते 24 घंटे में यहां 1,717 नए मामले सामने आए। 6082 मरीज ठीक हुए और 51 की मौत हो गई। यहां अब तक 6.79 लाख लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं जबकि 14 हजार लोगों ने जान गंवाई है। अभी यहां 40,162 मरीजों का इलाज चल रहा है।

महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार

तारीख कुल केस टेस्टिंग
07 मई 2021 54,022 2,68,912
08 मई 2021 56,578 2,60,751
09 मई 2021 48,401 2,47,466
10 मई 2021 37,236 1,92,330
11 मई 2021 40,956 2.17,664

BMC की वैक्सीनेशन को लेकर नई गाइडलाइन कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए BMC कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने वैक्सीनेशन को लेकर हाउसिंग सोसाइटियों और प्राइवेट वर्क स्पेस के लिए गाइडलाइन जारी की है। इसमें ये निर्देश दिए गए हैं।

  • रजिस्टर्ड प्राइवेट कोविड वैक्सीनेशन सेंटर के माध्यम से हाउसिंग सोसाइटियों और प्राइवेट वर्कप्लेस पर 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी पात्र लोगों के लिए वैक्सीनेशन का आयोजन किया जा सकता है।
  • इसके लिए प्राइवेट वर्कस्पेस और हाउसिंग सोसायटी के मैंनेजमेंट को अपने एक सीनियर स्टाफ को मैनेजमेंट के लिए नोडल ऑफिसर नियुक्त करना होगा।
  • ऐसे वैक्सीनेशन सेंटर पर प्राइवेट वर्कप्लेस के कर्मचारी, उनके परिवार के सदस्य, हाउसिंग सोसायटी के निवासी, नौकर-नौकरानी, ड्राइवर सहित अन्य 18 या उससे अधिक उम्र के लोग टीकाकरण के लिए पात्र होंगे।
  • इसके लिए कोविन पोर्टल पर सभी को पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा। हालांकि, वर्कप्लेस के मामले में कर्मचारियों को ऑन-द-स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा होगी।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि ऐसे वैक्सीनेशन का कितना भुगतान रजिस्टर्ड प्राइवेट कोविड वैक्सीनेशन सेंटर को करना है? यह बात निजी कार्यस्थल व हाउसिंग सोसाइटी के मैनेजमेंट और प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर को आपसी बातचीत से पहले तय करनी होगी।
Back to top button