देश

मानवाधिकार आयोग से शिकायत किया 11 साल का बच्चा- दादा-दादी को गाली देती है मां, खराब माहौल में कैसे पढ़ूं?

जयपुर.

अपनी मां के आक्रामक स्वभाव से परेशान उदयपुर के 11 वर्ष के एक मासूम बालक ने राज्य मानवाधिकार आयोग से मदद की गुहार लगाई है। राज्य मानवाधिकार आयोग को भेजे पत्र में उसने कहा कि उसकी मां न केवल उसे बल्कि उसके दादा-दादी को भी प्रताड़ित करती है। ऐसी मां को पाबंद किया जाए कि वह उन्हें परेशान न करे। आयोग के अध्यक्ष सेवानिवृत्त न्यायाधीश गोपाल कृष्ण व्यास ने उदयपुर एसपी को मामले की जांच कर रिपोर्ट तलब की है।

उदयपुर के अरिहन्त नगर निवासी 11 वर्षीय पार्थ सारथी पुत्र सिद्धार्थ चौधरी ने आयोग को भेजे पत्र में लिखा है कि मैं अपने दादा चन्द्रसिंह व दादी डॉ. ज्योति चौधरी के साथ रहता हूं। मेरी मां मोनिका गुप्ता हमारे साथ नहीं रहती। मेरा लालन-पालन पिता व दादा-दादी ने मिलकर किया। मेरी मां लगातार हमारे यहां आकर हम सभी को प्रताड़ित करती है। दादा-दादी के साथ गाली-गलौच करती है। दादी को डायन कहकर बुलाती है।

पार्थ ने आगे लिखा कि मां ने घर का पूरा माहौल बिगाड़ रखा है। मेरा जीना दुर्भर कर रखा है। मेरा मां के कारण मेरी पढ़ाई भी खराब हो रही है। ऐसे में मेरी मां को पाबंद किया जाए कि वह हमारे घर पर न आए। साथ ही हमें प्रताड़ित करना बंद कर दे।

आयोग के अध्यक्ष व्यास ने 11 वर्षीय मासूम की शिकायत पर उदयपुर के एसपी राजीव पचार को पत्र भेजा। साथ ही मामले की पूरी जांच कर रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

Back to top button