देश

महागठबंधन में महासंकट: इतनी सीटों पर अड़े मांझी, सम्मान को लेकर खींचतान

लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए बिहार के महागठबंधन में सीटों को लेकर कवायद शुरू हो गई है, लेकिन अभी तक महागठबंधन में सीटों का बंटवारा नहीं हुआ है। ‘हम’ पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने राजद से सबसे ज्यादा सीटों की मांग की है। मांझी ने कहा की राजद के बाद सबसे ज्यादा जनाधार ‘हम’ के पास है। साथ में उन्होंने कहा की उपचुनाव जीतने के लिए ‘हम’ ने राजद को बिना किसी शर्त के समर्थन दिया था। महागठबंधन ने इस उपचुनाव में अररिया लोकसभा और जहानाबाद विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की थी।

मांझी ने महागठबंधन में राजद के बाद किसी भी पार्टी को मिलने वाली सीट से कम सीट पर समझौता नहीं किया जा सकता। आपको बता दें की जल्द की मांझी रांची जेल में लालू यादव से मिलने वाले हैं। महागठबंधन के सबसे बड़े नेता लालू यादव ही हैं, और ‘हम’ के सीटों का मामला उनसे मिलने के बाद ही साफ़ होगा। मांझी ने कांग्रेस के साथ भी नरमी बरती है। तीन मार्च को होने वाली एनडीए की रैली में इस बात को सुलझा लेना चाहते हैं।

गौरतलब है की सीट मामले को लेकर महागठबंधन में दिनोंदिन शिकायतें बढ़ती ही जा रही हैं। कांग्रेस, राजद, जहाँ एक तरफ सीटों को लेकर बराबर की समझौते पर अड़ी हुई है, वहीँ दूसरी और ‘हम’ प्रमुख ने भी अपना मोर्चा खोल दिया है।

हम प्रमुख ने साफ़ कर दिया है की कुशवाहा से कम सीट उन्हें मंजूर नहीं। उन्होंने कहा की महागठबंधन में हम पुराने सहयोगी हैं, अगर ज्यादा सीटें नए सहयोगियों को मिलती हैं तो ये उन्हें स्वीकार नहीं होगा। मांझी ने कहा कि सम्मानजनक स्थान उनकी पार्टी को भी मिलनी चाहिए। लेकिन अगर सम्मानजक सीटें उनकी पार्टी को नहीं मिली तो वो कोई और विकल्प देखेंगे।

Back to top button