देश

‘महंगी बिजली’ का झटका झेलने को हो जाएं तैयार, अब इतने बढ़े हुए आएंगे बिल

भोपाल। मध्य प्रदेशवासियों की जेब पर एक बार फिर से बिजली का बिल डाका डाल सकता है। दो प्रतिशत महंगी हो चुकी बिजली की दरों में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए छह प्रतिशत बढ़ोत्तरी की तैयारी है। एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी ने राज्य विद्युत नियामक आयोग में याचिका दायर कर दी है।

इस याचिका में सभी वर्ग के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली करीब 6 फीसदी तक महंगी किए जाने का प्रस्ताव दिया है। कंपनियों ने दाम बढ़ाए जाने का बड़ा कारण ढाई हजार करोड़ से अधिक का घाटा बताया है। अपने इस घाटे से उबरने के लिए अब बिजली कंपनियां बिजली उपभोक्ताओं पर बोझ बढ़ाने जा रही हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि दिसंबर में ही बिजली की दरों में 1.98 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई थी। उपभोक्ताओं की जेब पर प्रति यूनिट आठ से 15 पैसे का भार डाला गया है। अब नए टैरिफ याचिका में छह प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव है। राज्य विद्युत नियामक आयोग बिजली की दर बढ़ाने वाले इस याचिका पर प्रदेश की तीनों बिजली कंपनियों के स्तर पर आपत्तियों की सुनवाई करेगी। इसके लिए मार्च में कोई तारीख निश्चित हो सकता है।

वहीं जबलपुर शहर में इनकम टैक्स जमा करने वाले उपभोक्ताओं की बिजली सब्सिडी बंद करने का निर्णय लिया है। इस निर्णय के बाद जबलपुर संभाग के करीब 2 लाख उपभोक्ता प्रभावित होंगे।

Back to top button