/** * The template for displaying the header * */ defined( 'ABSPATH' ) || exit; // Exit if accessed directly ?> मर्दानगी छीनने को काफ़ी हैं ये 3 चीजें, पढ़ें और हो जाएं सावधान – JanMan tv
सेहत

मर्दानगी छीनने को काफ़ी हैं ये 3 चीजें, पढ़ें और हो जाएं सावधान

हर इंसान की कुछ न कुछ अलग आदतें होती हैं। जो हमारे जीवन में गहरा असर डालती है. जिनमें से कुछ आदतें ऐसी होती हैं जो आपके जीवन के लिए खतरनाक हो सकती हैं। खासकर वे आदतें जो आपकी सेक्स लाइफ पर असर डालती हैं। अक्सर देखा जाता है कि लोग अपनी सेक्स लाइफ को बर्बाद कर देते हैं। ज्यादातर लोगों को तो पता ही नहीं होता है कि उनकी सेक्स लाइफ उनकी आदत की वजह से बर्बाद हो रही है। रोजाना की आदतों से हमारे शरीर पर इफेक्ट पड़ता है और उसका असर जीवन की गुणवत्ता पर पड़ता है।

जिस तरह से हमारे शास्त्रों में नपुंसकता को दूर करने के लिए अलग-अलग तरह की दवाओं का जिक्र किया गया है, उसी तरह से हमारे शास्त्रों में नपुंसकता को लाने के लिए भी कुछ चीजों का जिक्र है। जैसे कि हमारे साधू-संत होते हैं तो उनके लिए कामवासना को रोकना बहुत ही जरुरी होता है तो वह लोग इन चीजों का उपयोग करते थे। आज हम आपको कुछ ऐसी ही चीजों का बताने वाले हैं जिनके उपयोग से एक पुरुष बड़ी आसानी से नपुंसक हो जाता है…..

  1. आम का अचार
    आपने सुना ही होगा कि पुरुष को आम का अचार खाने से मना किया जाता है. इसके पीछे का जो मुख्य कारण है वह यही है कि आम का अचार यदि एक पुरुष लगातार खाता है तो उसके अन्दर नपुंसकता आ जाती है। इसीलिए पुरुषों को खट्टा नहीं खाना चाहिए।
  2. केले के पेड़ की जड़

यह बात सबसे अधिक प्रचलित है कि यदि किसी व्यक्ति को केले के जड़ का रस पानी में मिलाकर पिला दिया जाए तो इससे वह व्यक्ति कुछ ही दिनों में नपुंसक बन जाता है। आपके यहाँ यदि केले का पेड़ गमले में है तो ध्यान दें कि केले के पेड़ की कुछ जड़े गमले से बाहर निकल रही होंगी, तो उन्हें काटकर, उनका रस पीसने के बाद निकाल लें और इसको पानी में मिलाकर कुछ दो बार से तीन बार पी लेने के बाद पुरुष में नपुंसकता आ जाती है।

  1. आंवला

अगर आप किसी को नामर्द ही बनाना चाहते हैं तो आप उस व्यक्ति को आंवला खिलाते रहें. आपने आजतक आंवला के फायदे ही सुने होंगे लेकिन एक साधू की मानें तो कामवासना को ख़त्म करने के लिए वह लोग आंवला काफी खाते हैं। इसका शारीरिक लाभ तो होता है किन्तु साथ में नपुंसकता भी आती रहती है।

Back to top button