उत्तर प्रदेशख़बर

‘मदर कॉप’ बनी लेडी कॉन्सटेबल, DIG ने किया सम्मानित तो DGP ने ट्रांसफर

यूपी के झांसी जिले की थाना कोतवाली में महिला सिपाही अर्चना जयंत की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने और तारीफ के बाद उन्हें विभाग की ओर से भी राहत मिली है। दरअसल बीते दिनों अर्चना की एक तस्वीर खूब वायरल हुई, जिसमें वह रजिस्टर में कुछ देख रही हैं और उनकी बच्ची टेबल पर लेटी है।

हर कोई उन्हें सलाम कर रहा है और मदर कॉप की उपाधि दे रहा है। दरअसल, यह बच्ची अर्चना की 6 महीने की बेटी अनिका है। अर्चना ड्यूटी के साथ-साथ थाने में ही अपनी बेटी को भी पाल रही हैं। इस तस्वीर के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी प्रशंसा हुई और लोगों ने उनके बॉस से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की।

ट्रांसफर के लिए किया आवेदन

हालांकि अर्चना बताती हैं कि वह आगरा के लिए ट्रांसफर चाहती हैं जिसके लिए उन्होंने अगस्त में आवेदन किया था। बकौल अर्चना, ‘मेरे माता-पिता आगरा में रहते हैं, इसलिए मैं वहां ट्रांसफर चाहती हूं ताकि बच्ची की देखभाल भी हो सके और मैं अच्छे से ड्यूटी भी कर सकूं।’ अर्चना ने कहा कि आवेदन करने पर उन्हें कहा गया कि थानों से वैकेंसी की लिस्ट आने पर उन्हें बताया जाएगा।

वहीं इस तस्वीर का प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने संज्ञान ले लिया है। डीजीपी ने महिला सिपाही अर्चना को किया फ़ोन, पूछा जानती हो कौन बोल रहा हूं, अर्चना बोली डीजीपी सर। इस पर डीजीपी ने पूछा कहां चाहती हो ट्रांसफर? उसने कहा जहां आप चाहें। डीजीपी ने तत्काल गृह जनपद के दिये निर्देश दिए हैं।

डीआईजी ने किया सम्मानित

उधर मदरकॉप अर्चना से प्रभावित होकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल ने एक हजार रुपये का पुरस्कार देकर कार्य की जमकर प्रशंसा भी की। वहीं यूपी डीजीपी के पूर्व पीआरओ राहुल श्रीवास्तव ने अर्चना की तारीफ में ट्वीट कर लिखा, ‘मदरकॉप अर्चना से मिलिए। कोतवाली झांसी में तैनात अर्चना मातृत्व और विभाग की ड्यूटी साथ-साथ निभाती हैं, उन्हें सलाम।

Back to top button