उत्तर प्रदेशराजनीति

भाजपा की उम्मीदों को झटका: महागठबंधन में सपा-बसपा के साथ शामिल होगी कांग्रेस !

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक उठा पटक का दौर अभी भी जारी है। प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने के बाद से कांग्रेस को जैसे संजीवनी मिल गयी हो। कांग्रेस कार्यकर्ताओं मे उत्साह चरम पर है। इसी बीच प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की क्षेत्रीय पार्टी महान दल के साथ गठबंधन करने की घोषणा की है।उल्लेखनीय है कि साल 2004 और साल 2009 के चुनावों के दौरान भी कांग्रेस और महान दल ने गठबंधन किया था। कांग्रेस के आक्रामक कैंपेन से उत्तर प्रदेश मे सभी दल सकते मे है।

राज्य मे समाजवादी पार्टी और बसपा ने गठबंधन की घोषणा पहले ही कर दी है। लेकिन प्रियंका गांधी के सक्रिय होने के बाद कांग्रेस, बीजेपी के साथ महागठबंधन के लिए भी चुनौती मानी जा रहा है। इसी के मद्देनजर खबर सामने आ रही है कि अखिलेश यादव कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के बारे में विचार कर रहे हैं।माना जा रहा है कि जल्द ही सपा और कांग्रेस इस गठबंधन का ऐलान कर सकते हैं। आपको बता दें कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कांग्रेस के प्रियंका गांधी के महासचिव बनाये जाने के कदम को काफी सराहा था।

इसके महागठबंधन मे कांग्रेस को न रखने के बाद भी अखिलेश यादव ने कांग्रेस या राहुल गांधी पर तीखे प्रहार नहीं किये थे। राजनीतिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अगर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी के बीच गठबंधन को लेकर सहमति बनती है तो सपा अपने हिस्से की 5 सीटें कांग्रेस को दे सकती है।यह वहीं सीटें हैं जहां से वह 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस दूसरे नंबर पर रही थी। इससे पहले 2 सीटें रायबरेली और अमेठी गठबंधन ने पहले से ही कांग्रेस के लिए छोड़ रखी थी।

उल्लेखनीय है इन दोनों सीटों पर कांग्रेस को भारतीय जनता पार्टी कभी भी हरा नहीं पाई है। आपको बता दें कि इस समय देश का राजनीतिक माहौल ऐसा है कि एक तरफ बीजेपी और उसके सहयोगी दल है तो दूसरी और सभी विपक्षी दल एक दूसरे के साथ हाथ मिला रहे हैं।राज्य मे अखिलेश नही चाहते है कि कांग्रेस उनके चाचा शिवपाल की पार्टी प्रसपा से गठबंधन करे। इसी के चलते चुनाव से पहले कई सियासी उलटफेर हो सकते हैं।

Back to top button