उत्तर प्रदेश

ब्लैक फंगस : यूपी का ये जिला ‘हॉटस्पॉट’ बना, होश उड़ा देगा मरीजों का आंकड़ा

मेरठ में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस का कहर जारी है। 147 लोगों में अब तक ब्लैक फंगस पाया जा चुका है, जबकि 9 लोगों को डिस्चार्ज करने के बाद अब जिले में 88 एक्टिव केस बाकी हैं। वहीं, 12 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। मेरठ के सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन ने बताया कि पहले के मुकाबले अब ब्लैक फंगस की दवाएं अधिक मात्रा में मिल रही हैं, लेकिन ब्लैक फंगस के मरीजों में भी वृद्धि हो रही है।

मेरठ के अलग-अलज अस्पतालों में ब्लैक फंगस के करीब 147 मरीज भर्ती हैं। तीन मरीज निजी क्लीनिक में हैं जिनका कोई रेकॉर्ड नहीं है। मेरठ में ब्लैक फंगस के 88 केस एक्टिव हैं जिनका मेडिकल और विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। मेडिकल कालेज में ही अकेले 72 मरीज ब्लैक फंगस के भर्ती हैं। बाकी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती हैं।

जिले में कोरोना संक्रमित मरीज भी लगातार मिल रहे हैं। हालांकि, पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण पहले से काफी कम है, लेकिन कोरोना से होने वाली मौते नहीं रुक रही हैं।

सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन ने बताया कि कोरोना संक्रमितों में तेज़ी से कमी आई है, लेकिन ब्लैक फंगस का प्रकोप तेज़ी से बढ़ा है।


Back to top button