देश

बिहार : मेडिकल कॉलेज के एक छात्र की कोरोना से मौत, फरवरी के पहले हफ्ते में ली वैक्सीन की पहली खुराक

फाइल फोटो 

पटना। बिहार के नालंदा मेडिकल कॉलेज के फाइनल ईयर के मेडिकल स्टूडेंट शुभेंदु सुमन की कोविड वैक्सीन लेने के बावजूद कोरोना से मौत हो गई। 23 साल के शुभेंदु सुमन की मौत बेगूसराय में हुई, जबकि उन्होंने 22 दिन पहले कोवैक्सीन का पहला डोज लिया था। इस घटना के बाद अब इस मेडिकल कॉलेज के सभी छात्रों का RT-PCR टेस्ट कराया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक शुभेंदु सुमन ने 22 दिनों पहले ही वैक्सीन ली थी। उन्होंने फरवरी के पहले हफ्ते में वैक्सीन ली थी, लेकिन 25 फरवरी को वो कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद वो अपने घर बेगूसराय चले गए, जहां 27 फरवरी को उन्हें एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां सोमवार 1 मार्च की शाम उनका निधन हो गया।

मेडिकल कॉलेज के इस अस्पताल में अब तक 15 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। ताज्जुब की बात यह है कि इनमें से बहुत सारे छात्रों ने कुछ हफ्ते पहले ही वैक्सीन की पहली डोज ली थी।

गौरतलब है कि देश में कोरोना के खिलाफ 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू किया गया है। इसके पहले चरण में लाखों हेल्थकेयर वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया था। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को प्राथमिकता दी गई थी। 1 मार्च से वैक्सीनेशन ड्राइव का दूसरा चरण शुरू हुआ है। इस चरण में 60 से ज्यादा उम्र के लोगों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 45 से ऊपर की उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।

Back to top button