देश

बिहार में 29 जिलों में कोरोना के नए केस : संक्रमितों की संख्या में पटना से आगे गोपालगंज

बिहार में कोरोना के मामले अब तेजी से घट रहे हैं। सोमवार को 38 जिलों में मात्र 29 जिलों में ही कोरोना के नए मामले आए हैं। बाकी 9 जिलों में एक भी नया मामला नहीं आया है। पटना से भी अधिक मामले गोपालगंज में आए हैं। 24 घंटे के अंदर ही गोपालगंज में 15 से 30 नए मामले हो गए हैं। ऐसे में कोरोना की गाइडलाइन में थोड़ी भी लापरवाही हुई तो अन्य जिलों में भी मामले बढ़ सकते हैं।

कोरोना के नए मामलों के टॉप 5 जिले

  • गोपालगंज – 30
  • पटना – 27
  • जमुई – 20
  • नालंदा – 20
  • पूर्णिया – 18
  • समस्तीपुर – 12

इन जिलों में 10 नहीं पार कर पाया कोरोना

  • अररिया – 6
  • अरवल – 1
  • बांका – 1
  • बेगूसराय – 7
  • भागलपुर – 4
  • भोजपुर – 4
  • दरभंगा – 8
  • पूर्वी चंपारण – 4
  • गया – 6
  • कटिहार – 4
  • खगड़िया – 9
  • किशनगंज – 4
  • लखीसराय – 9
  • मधेपुरा – 5
  • मधुबनी – 4
  • मुंगेर – 3
  • मुजफ्फरपुर – 7
  • सारण – 7
  • शिवहर – 2
  • सीतामढ़ी – 2
  • सिवान – 8
  • सुपौल – 8
  • वैशाली – 3

बिहार में घटी जांच

बिहार में 24 घंटे में जांच घट गई है। 20 जून को 1,06,662 जांच हुई थी, जो घटकर 21 जून को 86,154 हो गई है। कुल जांच में 245 नए मामले आए हैं। इसमें गोपालगंज में सबसे अधिक हैं और दूसरे नंबर पर पटना है। पटना में 27 नए मामले आए हैं, जबकि गोपालगंज में 30 मामले हैं। पटना में अब तक कुल 1,46,044 लोग कोरोना से संक्रमित हो गए हैं और अब तक 1,43,384 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं। पटना में एक्टिव मामलों की संख्या 342 और मरने वालों की संख्या 2,318 हो गई है। हालांकि 24 घंटे में एक भी मौत पटना में दर्ज नहीं की गई है।

7 लोगों की मौत

बिहार में 24 घंटे में 7 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक बिहार में कोरोना से मरने वालों की संख्या 9,557 हो गई है। 21 जून को 7 और 20 जून को भी 7 लोगों की मौत हुई थी। 19 जून को भी 7 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 18 जून को 9 लोगों की जान कोरोना से गई थी। 17 जून को 4 लोगों की मौत हुई। जबकि, 16 जून को 9 लोगों की मौत हुई, वहीं 15 जून को 9 लोगों की मौत हुई है, वहीं 14 जून को कुल 53 लोगों की जान कोरोना से गई थी।

एक्टिव मामलों में कमी

बिहार में एक्टिव मामलों में काफी कमी आई है, जिससे अब रिकवरी का प्रतिशत 98.25% हो गई है। राज्य में कुल एक्टिव मामले 3,016 हैं। पटना मेडिकल कॉलेज के कोविड के नोडल डॉ अरुण अजय का कहना है कि मामले कम हो रहे हैं, लेकिन इससे संक्रमण का खतरा कम नहीं हो रहा है। संक्रमण के मामले को लेकर हमेशा एक्टिव रहने की जरूरत है। अगर कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया तो खतरा बढ़ सकता है।

Back to top button