देश

बिहार: गायब हो गए हैं 13 विधायक, विधानसभा के कंट्रोल रूम से नहीं हो रहा संपर्क!

सोमवार से विधानमंडल का मानसून सत्र शुरू हो रहा है। इस सत्र को सुचारु रूप से चलाने के लिए विधानसभा में तैयारियां की जा रही है। इस मानसून सत्र में कोरोना प्रोटोकॉल का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। खास तौर पर जिन विधायकों को इस सत्र में शामिल होना है। उन विधायकों को ट्रैक किया जा रहा है। क्योंकि, विधानसभा पूरी तरह से पुख्ता करना चाहता है कि विधानसभा के सभी विधायकों ने टीका लिया है या नहीं। लेकिन, इस दौरान 13 विधायकों से विधानसभा के कोविड-19 कंट्रोल रूम का संपर्क नहीं हो पाया है। अब वे गायब माने जा रहे हैं।

बिहार विधानसभा में कोरोना प्रोटोकॉल और वैक्सीनेशन को लेकर कंट्रोल रूम बनाया गया है। इस कंट्रोल रूम से सभी विधायकों से संपर्क किया गया। उनसे कोविड-19 का अपडेट लिया गया। विधान सभा कंट्रोल रुम ने विधानसभा के सदस्यों के लिए कोरोना अपडेट को लेकर कुछ सवाल पूछे और जवाब में उनके रिप्लाई को लिखा गया। विधानसभा के 243 विधायकों में दो विधायक की मौत कोरोना से हो चुकी है। बाकी बचे 241 विधायकों से विधान कोविड़-19 कंट्रोल रुम ने संपर्क किया तो 13 ऐसे विधायक हैं, जिनसे विधानसभा का कोई संपर्क नहीं हो पाया है। अब इन 13 विधायकों को लेकर कंट्रोल रूम असमंजस में है कि उन्होंने टीका लिया है या नहीं।

16 विधायकों ने नहीं लिया वैक्सीन

ये वो जनप्रतिनिधि है जिनको जनता के संपर्क में रहना है। लेकिन, विधानसभा कंट्रोल रूम भी इनसे संपर्क नहीं कर पा रहा है। उधर, 228 विधायकों ने अपनी मेडिकल रिपोर्ट को विधानसभा कोविड़ कंट्रोल रूम के साथ साझा किया है। विधानसभा कंट्रोल रूम के मुताबिक 16 ऐसे विधायक हैं, जिन्होंने कोविड का वैक्सीन नहीं लिया है। उन्होंने इसके पीछे अपनी सेहत को बताया है। उन्होंने बताया कि डॉक्टर ने फिलहाल वैक्सीन लेने से मना किया है। बिहार विधानसभा के 212 ऐसे विधायक है, जिन्होंने पुरी तरह से कोविड-19 का टीका ले लिया है।

विधानसभा अध्यक्ष ने लगवाया विशेष कैंप

बिहार विधानसभा के कंट्रोल रूम के मुताबिक अब तक 212 विधायकों का वैक्सीनेशन हो चुका है। इसमें से पांच विधायकों ने तो शुक्रवार को टीका लिया है। बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने विधायकों और विधानसभा कर्मचारियों के लिए टीकाकरण के लिए विशेष कैंप लगवाया है। विधायक अपने पूरे परिवार के के साथ टीका ले रहे हैं। वहीं, कर्मचारियों के लिए भी ये सुविधा उपलब्ध थी कि वो अपने पूरे परिवार के साथ टीका ले सकते है।

कंट्रोल रूम के मुताबिक विधानसभा सचिवालय के 95 फीसदी कर्मियों और अधिकारियों ने टीका ले लिया है। वहीं, विधायकों से आंकड़े उपलब्ध है। उसके मुताबिक 241 में से 212 विधायकों ने टीका ले लिया है।

Back to top button