देश

बिना मास्क रोके गए तो बवाल काट दिए बीजेपी नेता, अफसरों की फटकार के बाद माफी मांगी पुलिस

मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में कलेक्टर के आदेश पर धारा 144 लागू करते हुए सम्पूर्ण लॉकडाउन लगा है। बिना मास्क और बेवजह निकलने पर चालानी कार्रवाई का सख्त आदेश है। पर शायद यह बीजेपी नेताओं और पदाधिकारियों पर यह लागू नहीं होता। तभी तो विजय नगर थाने की महिला कांस्टेबल गरिमा व अन्य के एकता चौक पर रोके जाने पर बीजेपी के मंडल पदाधिकारी उखड़ गए। उनके दुर्व्यवहार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

दरअसल भाजपा मंडल महामंत्री पुष्पराज पटेल, रंजीत ठाकुर, ऋषभ दास में दो बिना मास्क में अहिंसा चौक से निकल रहे थे। वहां पुलिस की चेकिंग लगी थी। लेडी कांस्टेबल गरिमा ने तीनों को रोक कर बिना मास्क में मिलने पर चालान बनाने की बात कही। इसी पर वे हंगामा करने लगे। वर्दी उतरवाने की धमकी देते हुए वे सड़क पर बैठ गए। चिल्ला-चिल्ला कर कहने लगे कि यहीं एसपी-कलेक्टर को बुलाओ, तभी उठेंगे।

लेडी कांस्टेबल गरिमा ने कहा कि वह अपनी ड्यूटी कर रही हैं। बिना मास्क मिलने पर सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। पर उसके साथ मौजूद दूसरे पुलिसकर्मी पदाधिकारियों के सामने भीगी बिल्ली बन गए और उनका मनुहार करते हुए वायरल वीडियाे में दिख रहे हैं। पदाधिकारियों ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से इसकी शिकायत कर दी। लगे हाथ आरोप मढ़ दिया कि आपकी पुलिस जनता को बेवजह परेशान कर रही है।

बिना मास्क में नजर आने वाले बीजेपी नेताओं पर कार्रवाई की उम्मीद थी और वरिष्ठ अधिकारियों से सपोर्ट की, लेकिन हुआ उलटा। अधिकारियों ने अपने ही मातहत को फटकार लगा दी। फिर माफी मंगाते हुए समझौता करा दिया। यह पहला वाकया नहीं है। इससे पूर्व गोराबाजार में भी ऐसा हो चुका है। सीएसपी गढ़ा तुषार सिंह के मुताबिक दोनों पक्षों में बाद में समझौता हो गया था। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे से माफी मांग ली। बात खत्म हो गई थी।

Back to top button