उत्तर प्रदेश

बिजली बिल न भरने वाले सरकारी कर्मचारियों का काट दें कनेक्शन : कमिश्नर

गोरखपुर।बिजली बिल के भुगतान में हीलाहवाली करने वाले सरकारी कर्मचारियों पर कमिश्नर फिलहाल सख्त रुख अख्तियार किये हैं। कमिश्नर ने दो टूक कहा है कि सरकारी आवासों में रह रहे अधिकारी और कर्मचारी हर महीने नियमित रूप से बिजली बिल जमा करें।ऐसा न करने पर विद्युत निगम के अफसर इनकी मॉनीटरिंग करें और बकाए में आपूर्ति ठप कर दें। यह निर्देश कमिश्नर रवि कुमान एनजी ने आयुक्त सभागार में आयोजित मण्डलीय समीक्षा में दिए। कहा कि अन्डरग्राउन्ड केबल, जर्जर पोल/तार के कार्य को प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराएं। जहां भी बांस-बल्ली से कनेक्शन गए हों वहां बांस-बल्ली हाटकर पोल लगवाएं। कहा कि अगर उपभोक्ता बिजली से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए फोन कर रहा है तो उसे प्राथमिकता के आधार पर सुनें और उपभोक्ता की परेशानी संवेदनशील होकर दूर कराएं। उपभोक्ताओं को गलत बिल न मिलने पाए इसका पूरी तरह से ख्याल रखें।

बैठक के दौरान बताया गया कि शहर में 50 हजार स्मार्ट मीटर लगाये जा चुके है। आयुक्त ने कहा कि सभी सरकारी कार्यालयों एवं सरकारी आवासों में रह रहे अधिकारियों/कर्मचारियों के वहां प्रमुखता के आधार पर स्मार्ट मीटर लगाएं।इस अवसर पर कमिश्नर ने गांव की बिजली को लेकर आ रही समस्याओं के समाधान के लिए 15 प्रधानों का बिजली विभाग के अधिकारियों के साथ संवाद स्थापित कराया। बैठक में प्रधानों को प्रमुखता के आधार पर जर्जर पोल/तार बदलने की मांग की। इस अवसर पर मण्डलायुक्त ने ग्राम प्रधानों से कहा कि वे धान क्रय केन्द्रों के पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें ताकि उनके धान क्रय करने के बाद धनराशि उनके खाते में सीधे भेजी जा सके। इसके अतिरिक्त उन्होंने यह भी कहा कि वरासत के मामलों को वरीयता के आधार पर निस्तारित करने के लिए अपने गांव में शुक्रवार एवं शनिवार को कैम्प आयोजित कर मामले निपटाएं। बैठक में मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता और भटहट, खोराबार एवं पिपराइच के ग्राम प्रधान उपस्थित थे।

Back to top button