ख़बरराजनीति

बायडेन ने मुस्लिम ट्रैवल बैन पर ट्रंप का फैसला पलटा, मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार की फंडिंग भी रोकी

डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बायडेन (Joe Biden) ने बुधवार (जनवरी 20, 2021) को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। बायडेन ने कार्यभार संभालते ही ट्रंप प्रशासन के कई अहम फैसलों को बदल दिया, जिनमें ‘मुस्लिम ट्रैवल बैन’ (Muslim travel ban) पर लगा प्रतिबंध भी एक है।

उन्होंने अमेरिका में ‘मुस्लिम ट्रैवल बैन’ (Muslim travel ban) को हटाकर पाँच मुस्लिम-बहुल राष्ट्रों- ईरान, लीबिया, सोमालिया, सीरिया और यमन के साथ-साथ उत्तर कोरिया और वेनेजुएला के कुछ अन्य अधिकारियों पर जारी प्रतिबंध समाप्त करने का फैसला लिया है।

कार्यालय संभालने के कुछ घंटे बाद ही बायडेन ने ‘मुस्लिम यात्रा प्रतिबंध’ को समाप्त करने सहित 17 कार्यकारी आदेश ज्ञापनों और घोषणाओं पर हस्ताक्षर किए। दरअसल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसके तहत कुछ मुस्लिम देशों और अफ्रीकी देशों के अमेरिका में ट्रेवल पर रोक लगा दी थी। इतना ही नहीं, अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बायडेन ने मेक्सिको बॉर्डर (Mexico border) पर दीवार बनाने के डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को भी पलट दिया और इसके लिए फंडिंग भी रोक दी है। इस फैसले के बाद मैक्सिको ने जो बायडेन की भी प्रशंसा की है।

बायडेन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने कहा कि प्रतिबंध ‘हमारे देश पर एक दाग से कम नहीं था और यह ज़ेनोफोबिया (अपरिचित या विदेशियों को पसंद ना करना) और धार्मिक दुश्मनी ही थी’। 2017 में ट्रंप के कार्यालय में पहले सप्ताह से ही लागू, मुस्लिम प्रतिबंध ने शुरू में सात मुस्लिम-बहुसंख्यक देशों- ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन से यात्रा को प्रतिबंधित कर दिया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन ने शपथग्रहण के बाद पहले ही दिन कई अहम फैसलों पर हस्ताक्षर किए, जिनमें प्रमुख तौर पर पेरिस जलवायु समझौता भी है। व्हाइट हाउस ने जानकारी दी कि जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में अमेरिका की फिर से वापसी होगी। बायडेन ने पेरिस जलवायु समझौते में दोबारा शामिल होने का ऐलान किया। डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति ने देश की जनता से चुनाव के दौरान ही यह वादा किया था।

इसके अलावा, बायडेन ने कोरोना वायरस के खिलाफ मुहिम तेज करने के उद्देश्य से एक निर्णय पर हस्ताक्षर करते हुए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को अनिवार्य कर दिया है। साथ ही, दोबारा WHO में शामिल होने का फैसला किया है। कोरोना महामारी के दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO से हटने का फैसला किया था।

Back to top button