देश

फेसबुक फ्रेंड से शादी करने को घर से भाग आई 16 साल की लड़की, नाबालिग प्रेमी की सैलरी सुन इनकार कर दी

जयपुर. फेसबुक से शुरू हुई बातचीत इतनी बढ़ी कि दो नाबालिगों ने जीवन भर साथ रहने का फैसला ले लिया। प्रेमी के साथ शादी करने के लिए आगरा की 16 वर्षीय नाबालिग बालिका घर से भागकर धौलपुर आ गई। लेकिन दोनों नाबालिगों के प्यार को बालक की कम सेलरी ने नफरत में बदल दिया और जीवन भर साथ रहने का फैसला बदलते हुए नाबालिग बालिका ने प्रेमी के साथ जाने से मना कर दिया।

रेलवे स्टेशन पर दोनों नाबालिग को संदिग्ध अवस्था में देख चाइल्ड हेल्प लाइन में उन्हें बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर और बृजेश मुखरिया के समक्ष पेश किया, जहां से बालक को अम्बेडकर छात्रावास कोविड सेंटर और बालिका को चाइल्ड लाइन में प्रवेशित करवाया है। समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि बालिका आगरा जिले की रहने वाली है। वहीं बालक धौलपुर का निवासी है।

दोनों बालक-बालिका एक-दूसरे को पसंद करते हैं और कहीं दूर जाकर शादी करना चाहते हैं। जिसके लिए बालिका आगरा से भागकर धौलपुर आ गई। धौलपुर आकर बालिका ने जब बालक से उसकी सेलरी पूछी तो बालक ने 1400 रुपए बताई। जिसके बाद बालिका ने साथ जाने और शादी करने से इंकार कर दिया।

बालिका ने बालक के साथ पिता के पास भी जाने से किया इंकार
समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि बालक की सेलरी 1400 रुपए पता चलने के बाद बालिका ने जहां बालक के साथ जाने से इंकार किया। वहीं उसने पिता के घर भी नहीं जाने की इच्छा जताई है। सदस्य गुर्जर ने बताया कि बालिका के परिजनों को सूचना देकर उन्हें धौलपुर बुलाया गया है। फिलहाल बालिका को चाइल्ड लाइन में रखवाया गया है। समिति सदस्य ने बताया कि परिजनों के आने के बाद बालिका के सर्वोत्तम हित को देखते हुए आगे निर्णय लिया जाएगा।

शराबी पिता रोज पीटता था इसलिए घर छोड़ भाग आई
समिति सदस्य बृजेश मुखरिया ने बताया कि काउसिंलिंग के दौरान बालिका ने बताया कि उसका पिता शराब का आदी है। घर में वह आए दिन शराब पीकर आता है और उसकी बेरहमी से पिटाई करता है। फेसबुक पर बालक से उसकी दोस्ती हुई, जिसके बाद वह घर से भागकर धौलपुर आई और बालक के साथ रहना चाहती थी।

Back to top button