उत्तर प्रदेश

फर्जी मृत्यु प्रमाण बनवा कर जीवित पिता को मृत दर्शाया, ऐसे खुली पोल

– वरासत की प्रक्रिया के दौरान लेखपाल की सतर्कता से पकड़ में आया मामला

नवाबगंज।  हसनगंज तहसील क्षेत्र के अन्तर्गत रसूलपुर रसूलपुर गाँव में एक पुत्र ने दो साल पूर्व अपने जीवित पिता को मृत दर्शाकर फर्जी हलफनामा बनवा फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा लिया।

जमीन की वरासत करवाने के दौरान अभी हाल में क्षेत्रीय लेखपाल की सतर्कता के कारण मामले का भंडाफोड़ हो गया। जानकारी पाकर ग्राम पंचायत अधिकारी ने प्रमाण पत्र को निरस्त कर जालसाजी करने वाले युवक के खिलाफ कार्रवाई करने के लिये सोहरामऊ थाने में तहरीर दी है। मालूम हो कि हसनगंज तहसील के अन्तर्गत विकास खण्ड नवाबगंज के रसूलपुर गाँव निवासी राज कुमार सिंह के इकलौते पुत्र धीरेन्द्र सिंह ने 12-5-2019 को अपने पिता राज कुमार सिंह को मृत दर्शाकर फर्जी शपथ पत्र बनवा उपजिलाधिकारी हसनगंज को प्रार्थना पत्र दे उस दौरान गांव मे तैनात सेक्रेटरी की मदद से फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा लिया।पिता के नाम की जमीन का दाखिल खारिज करवाने के लिये धीरेन्द्र ने अभी पन्द्रह दिन पूर्व प्रपत्रो को ऑनलाइन कराया। जब कागज क्षेत्रीय लेखपाल सुशील शुक्ला को मिले तो उन्होंने इसकी छानबीन करनी शुरू की। छानबीन में मामला फर्जी पाया गया। गाँव के मौजूदा सचिव देवेंद्र यादव से भी जानकारी की।

मामले की जानकारी होने पर सेक्रेटरी देवेद्र यादव ने प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया है। उन्होंने बताया कि मामला 2019 का है। तत्कालीन वीडीओ ने मृत्यु प्रमाण पत्र बनाया था। जानकारी पर पता चला कि फर्जी प्रमाण पत्र बनवाने वाले के व्यक्ति के पिता जीवित है। जिसपर पिता से मिलकर मामले की जानाकारी की गई। तो पिता पुत्र मे आपसी मनभेद की बात सामने आई है। पिता ने कोई कार्रवाई न करने की बात कही है। ग्राम पंचायत अधिकारी देवेन्द्र यादव ने फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र को निरस्त करने के साथ ही धोखाधड़ी और गुमराह कर पिता का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने वाले युवक के खिलाफ कार्रवाई किये जाने के लिये थाना सोहरामऊ में तहरीर भी दी है।

Back to top button