उत्तर प्रदेशक्राइम

फर्जी दरोगा बनकर लोगों से करता था वसूली, मास्क न लगाने पर 500 रुपये वसूलता था जुर्माना, गिरफ्तार

सेना से रिटायर्ड एक सिपाही दरोगा बनकर लोगों से अवैध वूसली करता था। रौब दिखाने के लिए चोरी की गई ब्रीजा गाड़ी पर पुलिस लिखवाकर और नीली बत्ती लगाकर चलता था। इसका यह खेल तब खुला जब उसने एक होमगार्ड को रोककर उससे वसूली की। पुलिस को मिली सूचना पर फर्जी दरोगा को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के मुताबिक लोगों ने बताया कि बीते दो तीन दिनों से एक दरोगा रामगंगा नगर कॉलोनी क्षेत्र में राहगीरों और दुकानदारों की मास्क चैकिंग कर अवैध तरीके से वसूली करता है। पैसे नहीं देने पर वह उन पर मुकदमा लिखने और जेल भेजने की धमकी देता है।

मामले की सूचना जब पुलिस को मिली तो उसने घेराबंदी शुरू कर दी। मंगलवार को एक दरोगा ब्रीजा गाड़ी पर पुलिस का लोगो लगाकर वाहन चैकिंग कर रहा था। इसी बीच वहां से एक होमगार्ड गुजरा उस फर्जी दरोगा ने होमगार्ड को भी रोक लिया। उससे कानून पढ़ाने के बाद वसूली करने लगा। होमगार्ड ने इसकी सूचना रामगंगा चौकी इंचार्ज कुमरेश त्यागी को दी। उनके मौके पर पहुंचते ही पहले उसने भागने की कोशिश की मगर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

नोएडा से चोरी की हुई थी कार, नीली बत्ती लगाकर घूमता था

पुलिस की पूछताछ में फर्जी दरोगा ने अपना नाम लाखन सिंह बताया है। वह मूल रूप से अलीगढ़ जिले के मुकीमपुर तहसील का रहने वाला है। मगर इन दिनों वह बरेली की सनराइज पी-2 कॉलोनी में रहता है। एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह कार नोएडा से चोरी की गई हुई है। उस पर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर वसूली करता था। इसी के साथ पुलिस को उसके पास से कई फर्जी दस्तावेज भी बरामद हुए है। सभी की जांच की जा रही है।

मास्क की चैकिंग के नाम पर वसूली करने वाले एक फर्जी दरोगा को गिरफ्तार किया गया है। वह लोगों से मास्क के नाम पर 500-500 रुपये की अवैध वसूली करता था। वह पेशे से एक रिटायर्ड फौजी है। उसके पास से नोएडा से चोरी मारुति ब्रेजा कार, फर्जी नंबर प्लेट, फर्जी दस्तावेज प्राप्त हुए है। गाड़ी पर नीली बत्ती लगाकर घूमता था।

Back to top button