क्राइम

फरीदाबाद : फेसबुक पर दोस्त बनी युवती को मिलने बुलाया, फिर 25 लोगों ने किया गैंगरेप

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जहां देश एक बड़े संकट के दौर से गुजर रहा है। वहीं दूसरी ओर दरिंदे इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से मात्र सत्तर किमी की दूरी पर स्थित पलवल से दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी है जहां एक युवती के सात 25 दरिंदों ने गैंगरेप किया।

खबरों के मुताबिक युवक ने पहले फेसबुक पर युवती दोस्ती से दोस्ती की फिर उसे होटल पर बुला लिया। उसके बाद अपहरण कर रामगढ़ के जंगल में ले जाकर रात भर गैंगरेप किया गया। सुबह होने पर एक कबाड़ी के पास युवती को छोड़ा गया, जहां फिर से गैंगरेप किया गया।

युवती की हालत बिगड़ने पर बेहोशी की हालत में उसे बदरपुर बॉर्डर छोड़कर आरोपित फरार हो गए। इस मामले में पुलिस 25 लोगों के खिलाफ अपहरण और गैंगरेप के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है। घटना 3 मई की है। चलने लायक हालत होने पर युवती ने अब एफआईआर दर्ज कराई है।

पुलिस जांच अधिकारी एएसआई रचना के मुताबिक युवती ने अपनी शिकायत में कहा है कि उसके दोस्त रामगढ़ निवासी सागर ने तीन मई को उसे शादी के लिए अपने परिजनों से मिलाने के लिए होटल बुलाया तो वह होटल आ गई। होटल से सागर उसे घर ले जाने की बजाय रामगढ़ गांव के निकट जंगल में एक ट्यूबवैल पर ले गया जहां उसका भाई समुंद्र व 20-22 युवक और पहुंच गए।

पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उक्त युवक उसे वहां से जबरन जंगल में ले गए और सभी ने पूरी रात उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद सुबह होने पर उसे गांव के निकट आकाश कबाड़ी के वहां ले गए, जहां पर आकाश व उसके दोस्तों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। जिसके बाद वह चलने की स्थित में नहीं रही। तो सागर व उसके तीन दोस्त गाड़ी में उसे बदरपुर बार्डर पर छोडक़र फरार हो गए।

युवती ने शिकायत में कहा है कि उसी दिन से वह चारपाई में पड़ी हुई थी, जब वह चलने लायक हुई तो 12 मई को इसकी शिकायत हसनपुर थाना पुलिस को दी। हसनपुर पुलिस ने 12 मई को देर रात युवती की शिकायत पर सागर, समुंद्र व आकाश सहित 22 अन्य युवकों के खिलाफ अपहरण व सामुहिक दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Back to top button