उत्तर प्रदेश

पीएम की रैली में हिंसा कराने के लिए गोवंश ले गए सपाई, प्लानिंग से कराई भगदड़ !

एक तरफ उत्तर प्रदेश में जहां सीएम योगी आदित्यनाथ गोवंशों की सुरक्षा को लेकर कड़े कानून बना रहे है और तरह-तरह की पहल कर रहे है. वहीं दूसरी तरफ विरोधी पार्टी के लोग उनके इस कानून की धज्जियाँ उड़ने से बाज नहीं आ रहे है. हाल ही में आगरा जिले में हुई पीएम नरेंद्र मोदी के सभास्थल कोठी मीना बाजार में सपाइयों द्वारा गोवंश लाने कोशिश की गयी. जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया.

जानिए पूरा मामला

आगरा जिले में डौकी क्षेत्र के नगला सबला गांव में सपा कार्यकर्ता और किसानों ने लगभग 300 गोवंश को इकट्ठे कर लिए गए थे. सभी गोवंशों को पीएम नरेंद्र मोदी के सभास्थल पर लाने की तैयारी थी. मौके पर सूचना मिलने से पुलिस ने पूरे गांव को घेर लिया और बैरियर लगा दिए. लेकिन, सपा जिला अध्यक्ष राम सहाय यादव और राजवीर लवानियां के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ता जबरन आगे बढ़ने लगे तो पुलिस ने गोवंशों पर डंडे मार दिए. डंडे पड़ने पर गोवंशों ने इधर-उधर भागना शुरू कर दिया और अफरा-तफरी मच गई. इसी दौरान सपा जिला अध्यक्ष राम सहाय यादव को गोवंश ने चपेट में ले लिया. जिसके चलते बांस की झोपड़ी उनके ऊपर गिर पड़ी और वह जख्मी हो गए. जख्मी रामसहाय यादव को ग्वालियर रोड स्थित एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया.

अधिकारियों ने गोवंशों को खदेड़ाभाकियू ने सौंपा ज्ञापन

सारे गोवंशों को किसान लखनऊ एक्सप्रेस-वे की तरफ ले गए. एक्सप्रेस-वे पर बड़ी संख्या में गोवंश पहुंचने से वाहन चालकों के होश उड़ गए. सूचना पर पहुंचे अधिकारियों ने गोवंशों को वहां से खदेड़ा. उधर, बाह विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष राजेश यादव के नेतृत्व में भी गोवंश को आगरा लाने की तैयारी थी. पुलिस ने उन्हें भी रोक लिया. किसानों का कहना था कि आवारा पशुओं के कारण फसलें चौपट हो रही हैं. जिससे किसान हलकू बने हुए हैं. सुरेश यादव, गौरीशंकर खैर, रमेश यादव, बृजेश कुमार, संजय, राजकुमार, देवेन्द्र सिंह, बलवीर, रामप्रकाश, भैरोसिंह, राकेश सिंह,मोंटी आदि मौजूद रहे. भारतीय किसान यूनियन राष्ट्रवादी तथा भारतीय किसान यूनियन अराजैतिक के कार्यकर्ताओं द्वारा बमरौली कटारा पर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नित्यानंद राय को जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन सौंपा गया. ज्ञापन में समर्थन मूल्य घोषित करने तथा किसानों आयोग के गठन की मांग की गई.

Back to top button