देश

पासवान ले सकते हैं बड़ा फैसला, चुनाव से पहले बदल जाएंगे समीकरण !

लोजपा प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का चुनाव नहीं लड़ने का निर्णय बदल सकता है। इसके लिए भाजपा ने उन पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। हालांकि, अब तक के खबर मुताबिक, लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के पशुपालन पशुपति पारस अपना किस्मत आजमाएंगे। राजसभा के रास्ते रामविलास पासवान सांसद में आएंगे। लेकिन अगर दबाव बहुत बढ़ा तो पासवान का बदल भी सकता है।

बता दें कि लोकसभा सीट बंटवारे का जो फर्मूला एनडीए में तय हुआ था, उसके मुताबिक लोजपा को एक राज्यसभा की सीट देने के लिए भजपा ने सहमति जताई थी। उस वक़्त पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान को लेकर यह बात हुई थी कि वो चुनाव नहीं लड़ेंगे। सबसे पहले खाली होने वाली सीट से उन्हें राज्यसभा भेजा जाएगा। इसके अलावा 6 लोकसभा सीटें लोजपा को दिया जायेगा।

लेकिन उनपर अब भाजपा ने चुनाव लड़ने का दबाव बनाने शुरुआत कर दिया है। मुख्य वजह इसकी यह है कि भाजपा ने सर्वे कराया है जिसके अनुसार जितने वाला उम्मीदवार रामविलास पासवान को ही माना जा रहा है। लिहाजा हाजीपुर से चुनाव लड़ाने का दबाव उनपर भाजपा के शीर्ष नेताओं ने बनाना शुरू कर दिया है।

हालांकि पासवान ने फिर भी स्वास्थ्य कारणों से चुनाव लड़ने से मना कर दिया है, और उस सीट से अपने छोटे भाई को चुनाव लड़ाने का फैसला किया है। लेकिन पासवान को भी अगर ज्यादा दबाव बना तो चुनाव लड़ना पड़ सकता है। यह भी भाजपा ने संकेत दिया है कि अगर पासवान चाहें तो वह राज्यसभा से अपनी पार्टी के किसी दूसरे नेता को भेज सकते हैं।

Back to top button