उत्तर प्रदेश

पानी मांगने पर कोरोना मरीज को जबरदस्ती डिस्चार्ज किया अस्पताल, मौत


प्रयागराज :  कहते हैं प्यासे को पानी पिलाना पुण्य का काम होता है, लेकिन धरती के भगवान कहे जाने वाले डॉक्टर ने ऐसा कुछ कर दिया, जिससे इंसानियत शर्मसार हो गई। कोविड-19 काल में मेडिकल सेवाएं से जहां एक ओर मरीज ठीक हो रहे हैं तो वहीं प्राइवेट हॉस्पिटल पर कई गंभीर आरोप लग रहे हैं।

प्रयागराज में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में मरीज पानी के लिए हॉस्पिटल में तड़प रहा है। वह हॉस्पिटल में तैनात कर्मचारी और डॉक्टर से पानी मांग रहा है। पानी-पानी चिल्ला रहा है, लेकिन लाखों रुपये लेकर अस्पताल में एडमिट करने वालों ने उसे पानी तक नहीं दिया। उसकी हालत देखकर पीड़ित परिवार ने दूसरे अस्पताल में रेफर तो करा लिया, लेकिन पीड़ित मरीज की जिंदगी नहीं बचा सके। पीड़ित परिवार ने इस बात की शिकायत स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारियों से की है।

संक्रमित होने के बाद परिवार ने कराया था भर्ती
दारागंज के रहने वाले लवकुश सिंह प्रयागराज के जसरा स्वास्थ्य केंद्र में फार्मासिस्ट थे। अप्रैल में कोविड-19 जांच करवाई, जिसमें वह पॉजिटिव मिले। बेटे सचिन ने टैगोर टाउन के एक हॉस्पिटल में एडमिट कराया। जहां पर लवकुश का ऑक्सिजन के सहारे इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान प्यास लगी थी और वह पानी के लिए तड़प रहे थे। पानी-पानी चिल्ला रहे, लेकिन अस्पताल में कोई भी उन्हें पानी देने वाला नहीं था।

आखिर में उन्होंने अपना वीडियो बनाकर घरवालों को भेजा। पानी के लिए तड़प रहे पिता का वीडियो देखकर घरवालों के होश उड़ गए। उसी दिन 21 अप्रैल को अस्पताल में शिकायत करने पहुंचे तो बखेड़ा खड़ा हो गया। आरोप है कि मरीज का मोबाइल छीन लिया गया और उन्हें जबरदस्ती डिस्चार्ज कर दिया गया। पीड़ित परिवार ने उन्हें एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया। जहां अगले दिन ही उनकी मौत हो गई। लवकुश के बेटे सचिन ने पिता की मौत के बाद अस्पताल संचालक के खिलाफ कार्रवाई और मोबाइल दिलाने के लिए सीएमओ से शिकायत की है।

सोशल मीडिया पर वीडियो हो रहा वायरल

पॉजिटिव मरीज का अस्पताल में पानी मांगने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो को देख तरह-तरह के हॉस्पिटल पर और डॉक्टर पर कमेंट आ रहे हैं। वीडियो 21 अप्रैल का है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पीड़ित परिवार ने इस बात की शिकायत सीएमओ से कर दी है। वहीं, अब परिवार अपनी आपबीती की शिकायत सीएम पोर्टल और पुलिस में शिकायत करने की तैयारी में है। इसी हॉस्पिटल पर शनिवार को एक महिला के इलाज में ज्यादा पैसे वसूलने का आरोप लगा था, जिस पर सीएमओ ने जवाब तलब किया है।

Back to top button