राजनीति

पाकिस्तान पर अमेरिका सख्त: अपने नागरिकों से बोला..’आतंकवादी’ पाक जाने से पहले सोचें

सीआरपीएफ के काफिले पर जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले के बाद अमेरिका ने अपने देश के नागरिकों के लिए एडवायजरी जारी की है। एडवायजरी में अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान में आतंकवाद चरम पर है, इसलिए अमेरिकी लोग, वहां जाने से पहले अच्छे से सोच-विचार कर लें।

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पाकिस्तान को चेतावनी दी थी। ट्रंप ने कहा था कि पाकिस्तान को तत्काल आतंकी गुटों के लिए मदद बंद करनी चाहिए। ट्रंप की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि पाकिस्तान को उसके यहां संचालित हो रहे आतंकी गुटों को पनाह देना बंद करना होगा, क्योंकि उनका लक्ष्य आतंक के बीज बोना है।

भारत को मिला US का साथ
अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने भारत के प्रति संवेदना व्यक्त की है। बोल्टन ने अपने भारतीय समकक्ष अजीत डोवाल से फोन पर बात की। उन्होंने कहा कि अमेरिका आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत के साथ खड़ा है। बोल्टन ने सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में शहीद जवानों के प्रति दुख जाहिर किया है। जॉन बोल्टन की शुक्रवार को अजीत डोवाल से दो बार बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर हमारा एजेंडा एकदम स्पष्ट है।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) के काफिले पर विस्फोटक से भारी गाड़ी गुरुवार को आतंकियों ने टकरा दी थी, जिसमें 40 सैनिक शहीद हो गए और दर्जनों घायल हैं।

Back to top button