ख़बरखेल

पहली बार धोनी हुए टीम से बाहर, ये हैं बड़े कारण

महेंद्र सिंह धोनी के अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि उनको टीम इंडिया से बाहर किया गया हो. शुक्रवार को भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीजों के लिए टीमों की घोषणा की और इनमें सबसे अधिक चौंकाने वाला बदलाव धोनी के रूप में हुआ. जी, धोनी को इन दोनों ही सीरीज के लिए टीमों से बाहर रखा गया है.

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के अनुसार यह धोनी के टी20 इंटरनैशनल करियर का अंत नहीं है. प्रसाद ने आगे कहा कि चयनकर्ता अब विकेट के पीछे अन्य विकल्पों की खोज कर रहे हैं. इसी वजह से ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को टीम में शामिल किया गया है.

धोनी के बाहर होने का एक कारण उनका खराब फॉर्म भी माना जा रहा है. इस वर्ष भारत के लिए अब तक 7 टी-20 मैच खेले हैं जिसकी 5 पारी में उन्होंने बल्लेबाजी करते हुए मात्र 123 रन बनाए हैं. वनडे में भी उनका प्रदर्शन बेहद ख़राब रहा है धोनी इस वर्ष अब तक 17 वनडे मैच खेल चुके हैं जिसमें से उन्होंने 11 पारी में बल्लेबाजी करते हुए मात्र 245 रन बनाए हैं. इस वर्ष धोनी का औसत भी मात्र 27.22 का रहा है जो उनके करियर औसत (50.46) से लगभग आधा है.

अब वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में भी धोनी का बल्ला शांत ही है. वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में कोहली-रोहित की शानदार बल्लेबाजी के चलते धोनी को बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला था. हालाँकि दूसरे वनडे में जब टीम को उनसे रनों की दरकार थी तब धोनी 25 गेंदों पर मात्र 20 रन बना कर आउट हो गए.

बता दें कि धोनी ने अब तक 93 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय खेले हैं जो भारत के कुल टी-20 मैचों से मात्र 11 कम हैं. धोनी के नाम 1487 रन और स्टंप के पीछे 87 डिसमिसल्स भी हैं, इसके अलावा उन्होंने वर्षों 2007 में खेले गए पहले विश्व टी-20 में भारतीय टीम की कप्तानी करते हुए टीम को चैंपियन भी बनाया था.

Back to top button