क्राइम

पंद्रह साल बाद मायके से ससुराल लौटी महिला ने फांसी लगाकर दी जान

कानपुर।  कल्याणपुर में मंगलवार देर रात महिला ने पति से विवाद के फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह जब पति सोकर उठा तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। काफी देर खटखटाने के बाद भी कोई आवाज न आने पर पति ने 112 नम्बर डायल कर घटना की जानकारी पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही कल्याणपुर थाने का फोर्स मौके पर पहुंचा और घटना की जांच पड़ताल कर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

कल्याणपुर आवास विकास योजना संख्या तीन निवासी प्रमोद सैनी आरटीओ में प्राइवेट कर्मी हैं। परिवार में पत्नी अनीता सैनी (40) व बेटा सुधांशु हैं। दंपत्ति की शादी के बीस साल हो चुके है। सुधांशु अपने नाना के घर  में रहकर पढ़ाई करता हैं। सुधांशु ने बताया कि  शादी के बाद से ही पिता,मम्मी के साथ मारपीट करते थे। 2003 में मां ने पिता पर मारपीट व दहेज उत्पीड़न का कल्याणपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। उसके बाद से मां अपने मायके में आकर रहने लगी थी। 2016 में पिता ने मायके आकर मां के साथ मारपीट की थी। जिसके बाद 2016 में अनीता ने घरेलू हिंशा का मुकदमा बिठूर थाने में दर्ज कराया था। उसके बाद से अनीता अपने मायके में ही रहने लगी थी। दो दिन पूर्व प्रमोद घर आया और सभी से माफी मांगी और बहाने से मायके से लेकर चला गया। आरोप हैं कि घर ले जाने के बाद प्रमोद ने अनीता पर मुकदमा वापस लेने का दबाव बनाते हुए उसके साथ मारपीट की।

जिससे आहत होकर देर रात को अनीता ने रस्सी के सहारे पंखे से लटककर फांसी लगाकर फांसी आत्महत्या कर ली। सुबह जब पति सोकर उठा और कमरे में गया तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। खिड़की से झांक कर देखा तो पत्नी का शव दुपट्टे से पंखे के सहारे लटका देख उसके होश उड़ गयें। कल्याणपुर थाना प्रभारी वीर सिंह ने बताया कि पति शराब का लती हैं जिस वजह से दोनो के बीच में अक्सर विवाद होता रहता हैं। मृतका ने पहले भी पति पर दहेज उत्पीड़न और घरेलू हिंसा का मुकदमा दर्ज करा रखा था। अभी तक परिजनों की तरफ से कोई तहरीर नहीं आई हैं। अगर कोई तहरीर मिलती हैं तो मामले की जांच पड़ताल कर कार्यवाई की जाएगी।

Back to top button