उत्तर प्रदेश

पंचायत चुनाव : …उफ़ ये तो नामांकन के भीड़ की तस्वीर है ! कोई तो बताए इनमे कितने संक्रमित है जनाब ?

कोविड-19 की गाइड लाइन क्या यही कहती है हुजूर ?

कोई तो बताए इनमे कितने संक्रमित है जनाब ? प्रशासनिक व्यवस्था का खेल सब कुछ फेल

जरवल/बहराइच। उफ़ ये भीड़ ! हा जनाब किसी बड़े महानगर या कुम्भ मेले की ये तस्वीर नही है ये भीड़ विकास खण्ड जरवल परिषर की ही है जो शनिवार को उस समय प्रशासनिक अमला को आईना दिखाते हुए दिखाई दी जब लोग यहाँ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव मे क्षेत्र पंचायत,ग्राम पंचायत व सदस्यों के पद के लिए नामांकन करने आए थे लेकिन यहाँ की भीड़ जिम्मेदारो को क्या संदेश देती गई किसी को रत्ती भर इसकी परवाह नही दिखी।

और तो और नामांकन करने आए लोगो ने कई चक्र जरवल-बहराइच के हाइवे पर भी जाम की स्थित पैदा कर दी जिससे आवागमन मे भी लोगो को परेशानी का सामना भी करना पड़ा।त्रिस्तरिय पंचायत चुनाव के पहले दिन सरकारी व्यवस्थाओ की पोल खुलती ही नजर आई लेकिन प्रशासनिक अमला व्यवस्थाओ के खेल मे फेल ही दिखा नतीजा ये रहा कि कोविड-19 की गाइड लाईन बे-नतीजा ही साबित हुई प्रत्त्याशियो के दो पहिया व चार पहिया वाहनों के जलूस ने प्रशासन की सख्ती की पोल भी खोलने के लिए कम आईना नही दिखाया।जिससे आज दूसरे दिन रविवार को होने वाले नामांकन की भीड़ पर नियंत्रण करने के लिए प्रशासनिक व्यवस्था क्या सख्ती दिखा पाएगी अनबूझे सवालों को फिलहाल जन्म ही दे रही है।

जरवल।तमाम समझाने के बाद भी लोग नही मान रहे हैं।मजबूरन सख्ती करनी पड़ रही है अब अगर कोई भी व्यक्ति कोविड-19 गाइड लाइन का उलंघन करता पाया गया तो उसे दण्ड भी भुगतना पड़ेगा।

महेश कुमार कैथल
उप-जिलाधिकारी कैसरगंज

Back to top button