उत्तर प्रदेश

नमाज विवाद पर सुलग रहा है नोएडा, प्रशासन ने पार्क में भरवाया पानी

दिल्ली से सटा यूपी का जिला नोएडा, जहां पर सेक्टर-58 स्थित पार्क में नमाज़ पढ़ने पर लगी रोक के बाद उठे विवाद के मद्देनजर शुक्रवार को पुलिस अलर्ट पर है. किसी भी तरह के विवाद से बचने के लिए पुलिस, मुस्लिम समुदाय के जिम्मेदार लोगों से व्हाट्सएप्प ग्रुप के जरिये संपर्क में है. पुलिस द्वारा उन लोगों से सहयोग की अपील भी की गई है. इस बीच शुक्रवार देखते हुए किसी भी अप्रिय घटना के मद्देनज़र नोएडा प्राधिकरण ने एहतियातन कदम उठाते हुए पूरे पार्क में पानी भरवा दिया है. जिससे यहां पर किसी तरह का धार्मिक आयोजन और नमाज़ न हो सकें.

 

सुलझ रहा है नमाज़ पर विवादमौलवी ने की अपील

नोएडा के सेक्टर-58 पार्क में नमाज़ पढ़ने को लेकर जारी विवाद अब सुलझता नज़र आ रहा है. इस पार्क में नमाज़ पढ़ाने वाले मौलवी नोमान अख्तर ने भी स्पष्ट कर दिया है कि बिना पुलिस की इजाज़त के वो नमाज़ के पक्ष में नहीं हैं. इस मामले में नोमान अख्तर को हिरासत में भी लिया गया था. यूपी के अल्पसंख्यक आयोग ने भी बिना इजाज़त नमाज़ न पढ़ने देने के पुलिस के फैसले को सही ठहराया है. शु्क्रवार को जुमे की नमाज को देखते हुए सुबह से ही सेक्‍टर-58 के बी-ब्लॉक पार्क के पास पुलिस तैनात है. कोई अवांछित घटना न हो इसके मद्देनज़र नोएडा प्राधिकरण ने भी पार्क में पानी भर दिया है.

यूपीः नोएडा के जिस पार्क में नमाज पढ़ने को लेकर था विवाद, उसमें भर गया पानी

हालांकि नमाज़ पढ़ाने वाले मौलवी नोमान अख्तर के बयान के बाद मामला अब सुलझता नज़र आ रहा है. मौलवी नोमान अख्तर ने अपील भी की है कि कोई भी पार्क में न जाए और जहां जगह मिल सके वहां नमाज़ पढ़ ले.

नमाज़ मामले पर जारी हुआ था कंपनियों को नोटिस

आपको बता दें कि नोएडा में नमाज़ पर रोक का मामला काफी ज्यादा विवादों में आ गया था. सेक्‍टर-58 थाने के प्रभारी ने वहां की कंपनियों को नोटिस भी जारी किया था कि माहौल न बिगड़ने देने के लिए कर्मचारियों को पार्क में नमाज़ पढ़ने से रोका जाए. नोटिस में कहा गया था कि अगर सार्वजनिक स्‍थान पर नमाज़ पढ़ी गई तो इसकी जिम्‍मेदार संबंधित कंपनी होगी.

हालांकि, इसके बाद प्रशासन की तरफ से साफ किया गया कि इसकी जिम्‍मेदार कंपनी नहीं होगी. पुलिस का कहना है कि नमाज़ पढ़ने से आपत्ति नहीं है बल्कि इसकी इजाज़त लेना ज़रूरी है.

Back to top button