मनोरंजन

धर्मेंद्र ने इस अभिनेत्री की खातिर दिया था बड़ा बलिदान, गलती छुपाने को इस्तेमाल करते प्याज

धर्मेन्द्र को बॉलीवुड का हीमैन भी कहा जाता है। धर्मेन्द्र ने अपने जीवन में कई हिट फिल्में की हैं, जबकि धर्मेन्द्र हमेशा से अपना जीवन सादगी में ही बीताने में भरोसा रखते हैं  उन्होंने कई मशहूर फिल्मों में काम किया है, शोले, मेरा गांव मेरा देश और धर्मवीर जैसे फिल्मों ने कई पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त किए  हैं। तो चलिए जानते हैं आज धर्मेन्द्र से जुड़े एक दिलचस्प किस्से के बारे में।

धर्मेन्द्र एकबार वेटरेन एक्ट्रेस आशा पारेख के साथ एक सिंगिंग रिएलिटी शो में पहुँचे थे। इस रिएलिटी शो में धर्मेन्द्र और आशा पारेख ने अपने जीवन से जुड़े कई कहानी बताए थे। यहां धर्मेन्द्र ने आशा पारेख के बारे में बताया था। उन्होंने कहा था मैं आशा पारेख को जुबली पारेख कहकर पुकारता था क्योंकि उनकी हर फिल्म सुपरहिट होती थी।

धर्मेंन्द्र ने बताया कि 1966 में फिल्म ‘आए दिन बहार के’ में मुझे और आशा पारेख को साथ काम करने का मौका मिला था। इस फिल्म के लिए हम दार्जिलिंग गए थे। और हर दिन शूटिंग के बाद प्रोड्यूसर, क्रू मेंबर्स के साथ  हम पार्टी किया करते थे।

धर्मेन्द्र ने बताया कि मैं भी पार्टी में मौजूद था और मैंने बहुत शराब पी ली। और फिर शराब की महक को छुपाने के लिए सुबह सुबह मैं प्याज खा लिया, लेकिन इसकी  शिकायत आशा पारेख जी ने डायरेक्टर्स और प्रोड्यूसर से कर दी।

मुझे आशा जी को अपने शराब पीने के बारे में बताना पड़ा, मैंने कहा कि मैं शराब की महक छिपाने के लिए प्याज खा लेता हूँ। फिर आशा पारेख जी ने मुझे ड्रिंक ना करने की सलाह दे दी।

आशा जी के  इस सलाह के बाद मैंने ड्रिंक करना छोड़ दिया था। फिर मैं और आशा पारेख बहुत अच्छे दोस्त बन गए। उन दिनों को हम दोनों  ने खूब जीया और उस घटना के बाद से हम एक परिवार की तरह साथ रहने लगे। और आए दिन बहार की शूटिंग एक तरह से यादगार बन गई।

इसी घटना के बारे में आशा पारेख ने भी बताया कि, धर्मेन्द्र ने कड़ाके की ठंड पड़ने के बावजूद कभी शराब को हाथ नहीं लगाया। क्योंकि उन्होंने मुझसे वादा किया था।

आशा ने इसी फिल्म की एक और घटना के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि इस फिल्म में एक गाना था,जिसमें धर्मेन्द्र को बार बार पानी में जाना पड़ता था। पानी बहुत ठंडा होने की वजह से धर्मेन्द्र का बदन नीला पड़ गया था।

जब भी वो गाने की शूटिंग करके बाहर निकलते  थे, गर्माहट के लिए उन्हें हमेशा से ब्रांडी ऑफर की जाती थी। लेकिन मैंने उनसे कहा था कि अगर वो शराब पीएंगे तो मैं सेट छोड़कर चली जाऊँगी।

आशा पारेख ने कहा कि धर्म जी हर बार मेरी तरफ देखते थे और शराब नहीं पीते थे। जब तक पूरी शूटिंग खत्म नहीं हो गई, धर्म जी ने शराब की एक घूंट नहीं पी।

Back to top button