ख़बरजिंदगी

धनतेरस: आपकी शॉपिंग लिस्ट में जरूर होने चाहिए ये सामान

धनतेरस के साथ दिवाली दस्तक देने वाली है. अब पांच दिनों तक पूरा मोहल्ला रौशन रहेगा. पटाखों का शोर और गिफ्ट लेन-देन का दौर भी बदस्तूर जारी है. इन सबके बीच बजट और घर वालों की फरमाइशों का ध्यान रखते हुए आप अपनी धनतेरस स्पेशल शॉपिंग लिस्ट को लेकर माथापच्ची कर रहे होंगे. तो आपकी परेशानी थोड़ी कम करने के लिए हम आपको बताते हैं उन चीजों के बारे में जिन्हें बजट में रहते हुए भी खरीद सकते हैं.

सोना, चांदी
धनतेरस की खरीददारी किसी धातु के बिना अधूरी है. परंपराओं के अनुसार धनतेरस के मौके पर लोग सोना, चांदी ज़रूर खरीदते हैं. ऐसी मान्यता है इस दिन हम जो भी सामान खरीदते हैं वह हमारे लिए ‘गुड लक’ लेकर आता है. सबसे खास बात ये कि आप अपने बजट में सोना या चांदी का कोई भी आइटम, मसलन, सिक्का, जेवर, मूर्ति, आदि खरीद सकते हैं.

बर्तन
आप सोना या चांदी नहीं खरीद पा रहे तो भी टेंशन की बात नहीं. इस दिन तांबा का बर्तन खरीदना भी शुभ माना जाता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि तांबे के बर्तन का इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य लाभ होता है. हालांकि लोग इस दिन लोहा, शीशा या अलमुनियम खरीदने से बचते हैं.
इलेक्ट्रॉनिक आइटम
दिवाली के मौके पर डिस्काउंट और ऑफर की भरमार होती है. इसलिए कोई महंगा इलेक्ट्रॉनिक आइटम खरीदने का सबसे बढ़िया वक्त होता है धनतेरस. जिस तरह टेक्नोलॉजी तेजी से भाग रहा है, हमें हमारा स्मार्ट फोन सालभर के अंदर पुराना लगने लगता है. तो इसलिए धनतेरस पर मोबाइल फोन खरीदना बढ़िया रहेगा. सबसे खास बात यह कि मार्केट में हर रेंज का मोबाइल फोन उपलब्ध है. इसलिए बजट की चिकचिक का तो सवाल ही नहीं उठता. लेकिन अगर आप कोई और सामान खरीदने की सोच रहे हैं तो एक दफा ई-रीडर के बारे में भी ज़रूर सोचियेगा. बच्चे को वीडियो गेम दिलाने से बेहतर होगा कि आप उसे ई-रीडर गिफ्ट करें. इससे उसमें पढ़ने के प्रति दिलचस्पी भी बढ़ेगी और उसे टेक्नोलॉजी को और भी बेहतर तरीके से समझने में मदद मिलेगी. एक बुक लवर के लिए भी यह सबसे खास तोहफा होगा.
अपने प्रोफेशन से संबंधित चीजें
धनतेरस के दिन व्यापारियों के बीच नया बहीखाता खरीद कर लाने का प्रचलन है. फिर इसकी पूजा-अर्चना के बाद इस्तेमाल किया जाता है. ठीक इसी तरह आप भी अपने प्रोफेशन से जुड़ा कोई सामान ज़रूर खरीदें.

इन सबके अलावा अपनी और सबकी फेवरेट मिठाई ज़रूर लाइये और बिना किसी चिंता या परेशानी के त्योहार मनाइये.

Back to top button