उत्तर प्रदेश

दो PNR नंबरों पर रेलवे ने दे दी एक ही बर्थ, ठंड में अकड़ गए दोनों पैसेंजर

भारतीय रेलवे के ऑनलाइन रिजर्वेशन सिस्टम में एक बड़ी चूक सामने आई है। खुद रेल अधिकारियों ने भी माना है कि ऐसा बीते 25-30 साल में नहीं हुआ। हुआ यह कि दो अलग-अलग PNR नंबर पर एक ही बर्थ अलॉट कर दिया गया। नतीजा हुआ कि दोनों पैसेंजर को ठंड में परेशानी झेलनी पड़ी। इनमें से एक ने अब रेलवे से हर्जाने की मांग की है।

ये है ट्रेन

ट्रेन मडुआडीह-नई दिल्ली एक्सप्रेस थी, जिसका नंबर 02581 है। पीड़ित यात्री 52 वर्षीय अमरनाथ सिंह हैं। इनका टिकट प्रयागराज से नई दिल्ली के लिए था। इन्होंने रेलवे से लिखित शिकायत की है। शिकायत में इन्होंने कहा है कि 26 नवंबर को अपने जिस बर्थ पर यात्रा के लिए चढ़े, तो पाया कि उस पर पहले से 54 वर्षीय महिला नीलम देवी यात्रा कर रही थीं। एक ही सीट S9- 76 दोनों को अलॉट किया गया था।

इन्होंने कहा कि प्रयागराज से नई दिल्ली तक बिना सीट के यात्रा करनी पड़ी, जबकि उनके पास कंफर्म टिकट था। अमरनाथ सिंह ने रेलवे से इसके लिए हर्जाने की मांग की है। क्योंकि इस ठंड के मौसम में परेशानी की वजह से उनकी तबियत भी खराब हो गई।

पूरा मामला यह है

मंडुआडीह, वाराणसी से नई दिल्ली तक एक पैसेंजर की बुकिंग थी। लेकिन एक दूसरे पैसेंजर की प्रयागराज से इसी सीट पर बुकिंग कर दी गई। दोनों को दिल्ली ही जाना था। नीलम देवी का PNR नंबर – 2541225257 था और अमरनाथ सिंह का PNR नंबर – 2760359095 था। दो पीएनआर नंबर और एक सीट – ऐसा कैसे हुआ, इसपर रेलवे भी भौचक है।

PNR नंबर – 2541225257 का टिकट।

PNR नंबर – 2760359095 का टिकट।

क्या कहते हैं अधिकारी

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि ऐसा पिछले 25-30 साल में कभी नहीं हुआ। पूरा सिस्टम कंप्यूटराइज्ड है। फिर भी अगर शिकायत की गई है तो इसे जांचा तो जरूर जाएगा।

Back to top button