उत्तर प्रदेशख़बर

दो दिग्गजों संग 5 हजार सपाइयों ने छोड़ी पार्टी, सब गए शिवपाल के साथ

जिस दिन से शिवपाल सिंह यादव ने सपा से नाता तोड़ा, उसी दिन से वो लगातार समाजवादी पार्टी में अपने करीबी रहे नेताओं को भी तोड़ रहे हैं. शिवपाल ने सपा से कई नेता तोड़कर अपने मोर्चे में पदाधिकारी बना दिये हैं. लेकिन सपा में शिवपाल की ये तोड़फोड़ अभी खत्म नहीं हुआ है. अब भी ऐसे कई नेता समाजवादी पार्टी में हैं जो शिवपाल के करीबी रहे हैं और इस बात का इंतजार हो रहा है कि कब वो सपा का दामन छोड़कर शिवपाल के मोर्चा में शामिल होते हैं.

लगातार सपा के लिए मुसीबत बन रहे शिवपाल यादव ने अपने भतीजे और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को अब तक का सबसे बड़ा झटका दे दिया है. यूपी के मऊ जिले में सपा के दो दिग्गज नेताओं समेत पार्टी के पांच हजार लोगों ने सपा का साथ छोड़ कर शिवपाल की अगुवाई वाली सेक्युलर मोर्चा का दामन थाम लिया है.

शनिवार को दोहरीघाट में शिवपाल यादव की समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की तरफ से एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में सपा के कद्दावर नेता विद्युत प्रकाश यादव, सपा के जिला महामंत्री विजय शंकर यादव, के साथ पांच हजार सपाईयों ने पार्टी को अलविदा कहते हुए सेक्युर मोर्चा का दामन थाम लिया. इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए शिवपाल ने कहा कि हम जल्द ही ये साबित कर देंगे की यूपी में सेक्युलर मोर्चा सबसे भारी पड़ने जा रहा है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश की सत्ता भले ही भाजपा के पास हो, भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हों, लेकिन यहां के सियासी गलियारों में चर्चा आज भी समाजवादी पार्टी और मुलायम कुनबे की ही हो रही है. हालांकि, इन चर्चाओं की वजह सपा में हुआ दोफाड़ है. आज अखिलेश यादव के पास समाजवादी पार्टी है तो उनके बागी चाचा शिवपाल सिंह यादव अपनी अलग पार्टी समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन कर चुके हैं.

Back to top button