उत्तर प्रदेश

दोफाड़ हुई बीजेपी की सहयोगी पार्टी, संस्थापक ने किए सुभासपा के टुकड़े

लोकसभा चुनाव नजदीक देख राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ने लगी हैं. भाजपा की सरकार में शामिल एक राजनीतिक दल दो फाड़ हो चुका है. मऊ जिले की धरती पर एक बार फिर नए दल का उदय होने जा रहा है. इस बार सुहेलदव, भारतीय समाज पार्टी के संस्थापक कार्यकर्ता अपनी मूल पार्टी से टूट गए. भारतीय संघर्ष समाज पार्टी बनाने वाले मदन राजभर ने बुधवार को कहा कि कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर मिशन से भटक गए हैं. आजीवन चुनाव न लड़ने की बात करने और हमेशा किसी राजभर के बेटे को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाने का दावा करने वाले ओमप्रकाश राजभर समाज के साथ छल-कपट कर रहे हैं. राजभर समाज के हित से उनका कोई सरोकार नहीं रह गया है. इसलिए भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के संस्थापक सदस्यों ने अलग होकर उनको सबक सिखाने के लिए भारतीय संघर्ष समाज पार्टी का गठन किया है.

मदन राजभर ने ओमप्रकाश राजभर पर लगाए आरोप

बुधवार को रतनपुरा में एक प्रेस वार्ता के दौरान भारतीय संघर्ष समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मदन राजभर ने आरोप लगाते हुए कहा- ‘कभी कोई पद न लेने की बात कहने वाले ओमप्रकाश ने भाजपा जैसी पार्टी से समझौता कर राजभर समाज के लोगों को बेचने का काम किया है. विधानसभा चुनाव में 8 सीट मिलने पर 4 सीट अनुसूचित जाति को, 4 सीटों में बलिया के बांसडीह से बेटे को, रसड़ा विस क्षेत्र से पत्नी को और गाजीपुर के जहूराबाद से स्वयं और मऊ के सदर सीट पर अपने रिश्तेदार को टिकट देकर ओमप्रकाश राजभर ने चुनाव लड़ाया. सरकार बनने के बाद राजभर समाज को अलग से आरक्षण दिलाने की व्यवस्था की बात करने वाले ओमप्रकाश चुनाव जीतने के बाद मंत्री बने तो सब भूल गए. 2 साल से ऊपर हो गए लेकिन आज तक ओमप्रकाश ने राजभर समाज के लिए कोई काम नहीं किया’. मदन राजभर ने आगे कहा- ‘ओमप्रकाश के छल-कपट से आहत होकर ही उन्होंने भारतीय संघर्ष समाज पार्टी का गठन कर राजभर समाज के लिए संघर्ष करने की बीड़ा उठाया है’.

भाजपा के सभी नेता हमारा ख़ात्मा करने में फेल

ओमप्रकाश राजभर ने आरोप लगाया कि भाजपा हनुमान जी की जाति के मसले पर विवाद खड़ा कर जनता का ध्यान बुनियादी समस्याओं से हटाने का प्रयत्न कर रही है. उन्होंने आगे कहा कि हमें खत्म करने में उत्तर प्रदेश के सभी भाजपा नेता फेल हो गये तब वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लाकर हमारे सामने खड़ा किया है. भाजपा से रिश्तों के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि भाजपा चाहेगी तो वह साथ रहेंगे अन्यथा हम 80 सीट पर यूपी में और 16 सीट पर बिहार में चुनाव लड़ेंगे.

भगवान की जाति को लेकर राजभर ने योगी पर साधा निशाना

बीते मंगलवार देर शाम को रसड़ा स्थित अपने आवास पर बातचीत करते हुए सुभासपा के अध्यक्ष व प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा- ‘भाजपा बताए कि भगवान शंकर, विष्णु व राम किस जाति के हैं. भाजपा को इंसान को अगड़े व पिछड़े, हिंदू व मुसलमान में बांटने की राजनीति में जब सफलता नहीं मिली तो अब वह भगवान को बांटने पर आमादा हो गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, हनुमान जी को दलित बताते हैं तो भाजपा धरती पर अवतार लेने वाले 26 अन्य देवी-देवताओं की भी जाति बता दे’.

Back to top button