उत्तर प्रदेश

दुकान खोलने वालों को प्रशासन ने दिखाई सख्ती, एसडीएम ने कराया चालान

प्रतापगढ़। शहर में लाकडाउन के दौरान दुकान खोलने पर जिला प्रशासन ने  सख्ती दिखाई। जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल के निर्देश पर एसडीएम मोहनलाल गुत्ता व सीओ सिटी अभय कुमार पाण्डेय स्वयं पंजाबी मार्केट पहुंचे और वहां खुली दुकानों का चालान करने का फरमान सुनाया तो अफरा-तफरी मच गई। धड़ाधड़ दुकानें बंद हो गई। कुछ लोगों ने एसडीएम से बात कर रियायत देने की जुर्रत की तो आधा दर्जन दुकानों का चालान तुरंत कर दिया गया।

उप जिलाधिकारी मोहनलाल गुप्ता खुद सीओ सिटी के साथ पंजाबी मार्केट सुबह साढे़ दस बजे पहुंच गये थे। उस समय पंजाबी मार्केट की अधिकांश दुकानें खुली हुई थी। दुकानों के बाहर लगभग 150 मोटरसाइकिलें खड़ी हुई थी। उप जिलाधिकारी के पहुंचते ही दुकानें तो बंद होना शुरु हो गई थी लेकिन जैसे ही ग्राहक अपनी मोटरसाइकिल को लेना चाहे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया और सभी का चालान कर दिया। आधा दर्जन दुकानों के विरुद्ध महामारी अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है। प्रशासन के इस सख्त रवैये से पंजाबी मार्केट में हड़कंप मच गया। एसडीएम लगभग आधे घंटे तक पंजाबी मार्केट व श्रीराम तिराहे पर पैदल टहलते रहे। इसके अलावा चैक, श्याम बिहारी गली, फलमण्डी में भी दुकानों को बंद कराया गया।

बता दें कि सीओ, कोतवाली पुलिस ने कई बार पंजाबी मार्केट में पहुंचकर दुकानदारों को दुकान न खोलने के लिये समझाया था लेकिन दुकानदार दुकान खोलने पर अमादा दिखाई दिये जिस पर एसडीएम ने आज स्वयं आकर एक्शन लिया तो दुकानें बंद हो गई और भीड़ भी समाप्त हो गई। दिन में 12 बजते बजते पंजाबी मार्केट पूरी तरह से खाली हो गया था। आज सोमवार को बेल्हा देवी में भी भीड़ उमड़ी। बेल्हा देवी का मुख्य गेट बंद होने से सई नदी के किनारे मंदिर के पीछे पहुंच गये। इसकी सूचना मंदिर के पुजारी द्वारा पुलिस को देने पर पुलिस पहंुच गई तो पुलिस ने पहुंचकर प्रसाद की दुकानें बंद कराई और भीड़ को धीरे-धीरे बाहर किया।

Back to top button