देश

दीप सिद्धू से कनेक्शन को लेकर उठा Sunny Deol का नाम, जानिए क्या बोले सांसद

नई दिल्ली। नए कृषि कानून ( Farm Law ) को लेकर किसानों का विरोध ( Farmer Protest ) लगातार बढ़ता जा रहा है। गणतंत्र दिवस पर किसानों का ये विरोध प्रदर्शन काफी उग्र हो गया। कई राजधानी दिल्ली की सड़कों पर कई जगह हिंसक घटनाओं ने हर किसी को सोचने पर मजबूर कर दिया।

प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच टकराव हुआ। कई जगह प्रदर्शनकारियों ने पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाते हुए बवाल कर दिया। इतना ही नहीं ये आंदोलनकारी लालकिले तक पहुंचे और यहां निशान साहिब फहराया। खास बात यह है कि इस हिंसक बवाल के बाद राजनीति भी गर्मा गई है।

इस हिंसा के लिए पंजाब के अभिनेता और सिंगर दीप सिद्धू को जिम्मेदार बताया जा रहा है। यही नहीं दीप सिद्धू का नाम सामने आते ही एक बार फिर बीजेपी नेता सनी देओल के नाम की भी चर्चाएं होने लगी है। दीप सिद्धू से कनेक्शन की खबरों के बीच एक बार फिर बीजेपी सांसद ने सफाई दे डाली। आईए जानते हैं क्या कुछ कहा।

किसान आंदोलन उस वक्त उग्र हो गया जब रिपब्लिक डे पर ट्रैक्टर रैली कर रहे किसान बैरिकेड्स देख भड़क उठे। दिल्ली पहुंचने की जिद में कई जगहों पर हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया गया। हालांकि इन घटनाओं के लिए अब जिस शख्स का नाम सामने आ रहा है वो है पंजाब के एक्टर एक्टर और सिंगर दीप सिद्धू।

भारतीय किसान यूनियन हरियाणा के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी ने दीप सिद्धू पर प्रदर्शनकारियों को उकसाने और गुमराह करने का आरोप लगाया।

चुनाव में सनी का एजेंट रहा दीप सिद्धू
वहीं जब दीप सिद्धू का नाम इस मामले में उछला, तो उनका कनेक्शन फिल्म अभिनेता और बीजेपी के सांसद सनी देओल से भी जोड़ा जाने लगा।

स्वराज पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि दीप सिद्धू चुनाव में सनी देओल का एजेंट रहा है।

सनी ने दी सफाई
इस तरह की खबरों के सामने आते ही गुरदासपुर से बीजेपी सांसद और अभिनेता सनी देओल ने तुरंत अपनी सफाई दे डाली। सनी ने ट्वीट करते हुए अपनी बात रखी।

सनी देओल ने लिखा- ‘आज लालकिले पर जो हुआ, उसे देखकर मन बहुत दुखी हुआ है। मैं पहले भी 6 दिसंबर को ट्विटर के माध्यम से यह साफ कर चुका हूं, कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है। जय हिंद

आपको बता दें कि दीप सिद्धू और उनके भाई मनदीप को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पूछताछ के लिए तलब किया था।

दीप सिद्धू किसान आंदोलन से जुड़े हैं और प्रदर्शनकारी किसानों का समर्थन कर रहे हैं। एनआईए के ऑफिसर ने दोनों भाइयों से सिख फॉर जस्टिस नाम के अलगाववादी संगठन के खिलाफ दायर एक केस के बारे में पूछताछ की थी।

सिद्धू ने सरकार पर लगाया आरोप
उस दौरान दीप सिंह सिद्धू ने कहा था कि उनका सिख फॉर जस्टिस नाम के किसी संगठन से कोई लेना-देना नहीं है। यही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि एनआईए के जरिए समन भेजकर केंद्र किसानों का साथ दे रहे लोगों को धमकाना चाहती है।

Back to top button