सेहत

दिखते ही खा लीजिएगा ये 3 जंगली फल, कैसी भी बीमारी को करते हैं दूर

आपने कई फलों का सेवन किया होगा लेकिन जंगली फलों के फायदे सुनकर आपको आश्चर्य होगा कि इनके सेवन से सेवन से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे ऐसे जंगली फलों के बारे में जो आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद ही लाभकारी होते हैं।

शहतूत

शहतूत को मलबेरी के नाम से भी जाना जाता है। वनों के अलावा इसे सड़कों के किनारे और बाग-बगीचों में भी देखा जा सकता है। शहतूत में विटामिन-ए, कैल्शियम, फॉंस्फोरस और पोटेशियम अधिक मात्रा में मिलता हैं। इसके सेवन से बच्चों को पर्याप्त पोषण तो मिलता ही है, साथ ही यह पेट के कीड़ों को भी समाप्त करता है। शहतूत के फलों के रस पीने से आंखों की रोशनी तेज होती है और इसका शरबत भी बनाया जाता है।

करौंदा

इसका नाम अक्सर आपने अचार बनाने के लिए सुना होगा। हमारे यहाँ लोग इसे कच्चे करौंदे के नाम से जानते हैं। लोग इसका अमूमन अचार बनाते हैं। क्यूंकि ये बहुत ही ज्यादा खट्टा होता है। पकने के बाद इस फल का रंग लाल और सफेद रंग में तब्दील हो जाता है। इस फल में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो भूख बढ़ाने, सूखी खांसी को ठीक करने, एसिडिटी और मसूड़ों से खून निकलने जैसी समस्याओं का समाधान करता है।

जामुन

जामुन फल से आप बिल्कुल वाकिफ होंगे, जामुन को बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इस फल में एंटीऑक्सीडेंट, प्रोटीन और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में भी पाया जाता है। ये शारीर में रोग प्रतिरोधक तंत्र को बढ़ाता है और पाचन शक्ति को भी दुरुस्त करता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए जामुन का सेवन बेहद लाभदायक माना जाता है इसके सेवन से सुगर पर कुछ ही दिनों में नियंत्रण पाया जा सकता है।

Back to top button