क्राइम

दरिंदगी के 5 महीने बाद FIR, आरोपी ने समझौते के लिए बनाया दबाव….परेशान पीड़िता ने दे दी जान

संभल
उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। हाथरस में छेड़खानी की पीड़िता के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई क्योंकि वह केस वापस नहीं ले रहे थे। यह मामला अभी शांत नहीं हुआ कि अब संभल में एक गैंगरेप पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आरोप है कि गैंगरेप पीड़िता को आरोपी की ओर से लगातार धमकियां मिल रही थीं। वह मानसिक रूप से बहुत परेशान थी।

पुलिस ने बताया कि 22 साल की युवती के साथ गैंगरेप की शिकायत मिली थी। घरवालों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज करके आरोपी युवक को जेल भेज दिया था। पीड़िता की मां ने आरोप लगाया कि पिछले साल अगस्त में हुई इस घटना के बाद से युवती तनाव में थी। आरोपी का परिवार उन लोगों पर केस वापस लेने का दबाव बना रहा था।

केस वापसी के लिए बना रहे थे दबाव
पीड़िता की मां ने कहा, ‘वह पहले से ही परेशान और उदास थी। आरोपी का परिवार बार-बार उन लोगों को धमकियां दे रहा था। उनके ऊपर केस वापसी का दबाव बनाया जा रहा था। पहले से तनाव में जी रही उनकी बेटी धमकियां बर्दाश्त नहीं कर पाई और आत्महत्या कर ली।

पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया शव
चन्दौसी के सीओ ए.के. सिंह ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि पीड़िता तनाव में थी और यही कारण था कि उसने फांसी लगा ली। उसके परिवार ने आरोप लगाया कि आरोपी युवक का परिवार उन लोगों पर समझौता करने का दबाव बना रहा था। उन्हें धमकियां दी जा रही थीं। फिलहाल युवती का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है और जांच जारी है।

जनवरी में दर्ज की गई थी एफआईआर

पुलिस ने बताया कि बीए तक पढ़ी छात्रा एक निजी स्कूल की शिक्षिका थी। गैंगरेप के बाद उसने लगभग पांच महीने तक अपने परिवार के सामने इस अपराध का खुलासा नहीं किया था। आरोपी ने रेप के दौरान उसका वीडियो बनाया था और उसे वीडियो वायरल करने की धमकी दे रहा था। जनवरी में, उसने संभल पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

Back to top button