उत्तर प्रदेश

तेल उत्पादन से जुड़ी फर्मों की सबसे बड़ी टैक्स चोरी का हुआ खुलासा, तीन फर्मों पर एसजीएसटी ने की छापेमारी

कानपुर: राज्य वस्तु एवं सेवाकर (एसजीएसटी) के अधिकारियों की टीम ने सोमवार को खाद्य तेल बनाने वाली लक्ष्मी ऑयल एंड वनस्पति और इसकी ट्रेडिंग से जुड़ी श्रेयस प्राइवेट लिमिटेड व व्यापक प्राइवेट लिमिटेड नामक फर्मों पर छापा मारा। फर्मों के सिविल लाइंस, रनियां और पनकी स्थित पांच ठिकानों पर चली 12 घंटों की जांच में करीब 300 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी सामने आ चुकी है। जांच जारी रहने से इस रकम में और इजाफा हो सकता है। एसजीएसटी इस मामले को खाद्य तेलों से जुड़ी फर्मों की सबसे बड़ी टैक्स चोरी का खुलासा मान रहा है।

एडिशनल कमिश्नर (ग्रेड-1) दिनेश मिश्रा व (ग्रेड-2) अशफाक अहमद के निर्देश पर यह छापामारी की गई। जांच के लिए विभाग के करीब 40 अधिकारियों की टीम को लगाया गया है। विभाग से जुड़े सूत्रों की मानें तो रनियां स्थित लक्ष्मी ऑयल एंड वनस्पति खाद्य तेलों का उत्पादन करने के बाद श्रेयस को माल बेचना दिखाती थी। श्रेयस व्यापक को और व्यापक वापस इस माल को लक्ष्मी को बेच देती थी। हकीकत में इस पूरे लेनदेन में माल की खरीद-बिक्री होती ही नहीं थी। सिर्फ बिल और पर्चों के आधार माल तीनों फर्मों के बीच ही घूमता रहता था।

इस फर्जी खरीद-बिक्री को दिखाकर तीनों फर्म करोड़ों रुपये का आईटीसी (आयकर से छूट) का फायदा ले रही थीं। गोपनीय सूचना के आधार पर विभाग ने छापा मारा तो गोरखधंधे का भंडाफोड़ हो गया। ज्वाइंट कमिश्नर एसके सिंह, डीपी सिंह, डिप्टी कमिश्नर सुरेंद्र सिंह, धर्मेंद्र बहादुर, विकास बहादुर आदि अधिकारियों के नेतृत्व में जांच जारी है। टीम ने तीनों फर्मों के दस्तावेज, कंप्यूटर, हार्ड डिस्क आदि सीज कर दिए हैं।

Back to top button