देश

तमिलनाडु में गाजा चक्रवात से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 45

तमिलनाडु में चक्रवात ‘गाजा ’ के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गयी है. मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने रविवार को सभी राजनीतिक दलों से अपील की कि वे राहत प्रयासों में शामिल हों, जबकि चक्रवात प्रभावित लोगों को सहायता उपलब्ध कराने में कथित नाकामी को लेकर कुछ जिलों में प्रदर्शन हुए.

पलानीस्वामी ने कहा कि चक्रवात के चलते 1.7 लाख पेड़ उखड़ गये हैं, 735 मवेशी मारे गये हैं, 1.17 लाख घरों को नुकसान पहुंचा है और 6 जिलों में 88,102 हेक्टेयर जमीन प्रभावित हुई है. चक्रवात से प्रभावित जिलों में राहत एवं पुनर्वास के प्रयास जारी हैं जबकि सबसे बुरी तरह प्रभावित वेदारण्यम शहर में रविवार को अधिक से अधिक लोग 60 राहत केन्द्रों में शरण मांगते दिखे, जिससे कुछ जगहों पर राहत सामग्री में कमी आ गयी.

पुलिस ने बताया कि अधिकारियों पर ‘भेदभाव’ का आरोप लगाते हुए कोट्टामंगलम गांव में लोगों ने सड़क जाम किया. इस दौरान पुलिस के साथ झड़प में एक पुलिस उप अधीक्षक घायल हो गये. उन्होंने बताया कि हिंसा के संबंध में 60 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

अंदेशे और अलर्ट के बीच गाजा तूफान गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात करीब पौने दो तमिलनाडु के नागापट्ट‍नम पहुंच गया था जहां उसने खूब तबाही मचाई थी. गाजा तूफान के असर से हुए लैंडफॉल के दौरान वहां हवा की रफ्तार करीब 90-100 किमी प्रतिघंटा दर्ज की गई. तेज हवा और बारिश के कारण कई जगहों पर भारी नुकसान देखा गया.
Back to top button