उत्तर प्रदेश

डायबिटिक हैं तो डॉक्टर को बताएं, छिपाएं नहीं, इन बातों का रखें खास ख्याल

– वरिष्ठ फिजिशयन डॉ. धर्मेन्द्र सिंह की लोगों को सलाह

मैनपुरी – कोरोना संक्रमण की चपेट में आने का सबसे ज्यादा खतरा पहले से ही बीमारियों से घिरे लोगों को रहता है । डायबिटिज से घिरे लोग भी तेजी से कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। ऐसे लोग यदि कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं तो अपनी बीमारी को डॉक्टर से न छिपाएं। जिला अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. धर्मेंद्र सिंह का कहना है कि इस समय मरीजों के लिए अपने डायबिटीज लेवल को काबू में रखना भी बहुत जरूरी हो गया है।

डॉ. सिंह का कहना है कि जो लोग डायबिटीज के मरीज हैं, उन्हें बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है। यदि ऐसे लोग संक्रमण की चपेट में आ जाएँ तो सबसे पहले अपने चिकित्सक को शरीर में महसूस होने वाले बदलाव के बारे में जानकारी जरूर दें। कोविड-19 किट की दवाओं के साथ डायबिटीज को काबू में रखने वाली दवाई भी नियमित रूप से लें। डॉ. धर्मेंद्र सिंह का कहना है कि ऐसा देखा जा रहा है कि ऐसे मरीजों को तेज बुखार के साथ खांसी और सांस लेने में समस्या भी होती है। चिकित्सकों द्वारा स्टेरॉयड टेबलेट भी दी जाती है। ध्यान रखने वाली बात यह है कि स्टेरॉइड दवाओं के सेवन के बाद डायबिटीज का स्तर तेजी से गिरता है। मरीजों को अपने डायबिटीज लेवल का भी खास ख्याल रखना है। दवाओं के साथ पर्याप्त नींद और भोजन का सेवन भी जरूरी है।

इन बातों का रखें खास ख्याल
– भाप लें, गुनगुना पानी पियें, इससे खांसी में जल्द राहत मिलेगी

– स्टेरॉइड अगर चल रही है तो इसके साथ डायबिटीज की दवा को भी लेना न भूलें।
– संतुलित आहार के साथ कोविड-19 किट की दवाओं का सेवन करें।
– ऑक्सीजन लेवल को जांचते रहे।
– संक्रमित होने पर आइसोलेट हो जाएं और अन्य लोगों से दूरी बना लें।

Back to top button