उत्तर प्रदेश

ट्रैफिक पुलिसकर्मियों से उलझना अब पड़ेगा महंगा, बाडी वार्न कैमरे से लैस हुए ट्रैफिक कर्मी

गोरखपुर। मैट्रो सिटी की पुलिस की तर्ज पर गोरखपुर ट्रैफिक पुलिस भी अब बाडी वार्न कैमरे से लैस हो गई है। मुख्यालय से 95 कैमरे मिले हैं। एसपी ट्रैफिक ने सभी टीआइ, टीएसआइ और मुख्य आरक्षी को कैमरे वितरित दिए और उनसे कहा वाहन चेकिंग व चौराहे पर ड्यूटी के दौरान कैमरा अपने साथ जरूर रखें।

अक्सर देखने सड़कों पर लोग ट्रैफिक पुलिसकर्मियों से उलझते हुए नजर आते हैं। लेकिन अब ऐसा करना महंगा पड़ेगा। क्योंकि किसी ने अभद्रता की तो पूरी फुटेज कैमरे में कैद होगी, जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई करेगी। बाडी वार्न कैमरों की खासियत यह है कि रिकार्डिंग से कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकेगा।एसपी ट्रैफिक रामसेवक गौतम ने बताया कि मुख्यालय से 95 कैमरा मिला है। इनमें से 60 कैमरों को टीआइ, टीएसआइ व मुख्य आरक्षी में वितरित किया गया। कैमरे को ट्रैफिक पुलिसकर्मी अपनी वर्दी में लगाएंगे जो ड्यूटी के दौरान चालू रहेंगे। यह कैमरा ट्रैफिक पुलिस के लिए बहुत मददगार साबित होगा।बॉडी वार्न कैमरा पुलिसकर्मी शर्ट पर कंधे के पास लगाएंगे। इस कैमरे के जरिए पुलिसकर्मी और नागरिकों के बीच होने वाली सभी बातचीत और वीडियो के साथ रिकार्ड होगी। जीपीएस और जीपीआरएस के जरिए इसे कंट्रोल रूम से भी जोड़ा जा सकेगा।

Back to top button