देश

झारखंड में अनलॉक के लिए CM ने मांगे हैं सुझाव, देखें पब्लिक की कैसी-कैसी डिमांड्स!

रांची.

झारखंड के CM हेमंत सोरेन ने सोमवार को लोगों से राज्य को अनलॉक करने के लिए सुझाव मांगे। उन्होंने कहा कि जीवन और जीविका के इस संघर्ष में अब हमारा ध्यान जीविका पर है। इसलिए आप अपने बहुमूल्य विचार कमेंट कर साझा करें की कैसा होनी चाहिए अनलॉक 1 की प्रक्रिया?

5 घंटे में सोशल मीडिया पर CM के इस पोस्ट पर राज्य भर से लगभग 15 हजार लोगों ने अपना रिएक्शन दिया है। इसमें 95 फीसदी लोगों ने CM से गुहार लगाई है कि हेमंत सोरेन जी लॉकडाउन चाहे बढ़ा लीजिए, लेकिन E-PASS का नियम हटा दीजिए। सोशल मीडिया पर CM को दिए गए रिप्लाई में हर दूसरा पोस्ट E-PASS से संबंधित है।

इसके बाद यहां बड़ी संख्या में लोग कपड़ा, जूता-चप्पल व अन्य दुकानों को खुलने की अनुमति देने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जीवन के साथ जीविका भी बहुत जरूरी है। दुकानें बंद हो जाने के कारण लोगों के सामने खाने के लाले पड़ गए हैं। बड़ी संख्या में विभिन्न व्यवासायों से जुड़े लोग बेरोजगार हो गए हैं।

बड़ी संख्या में लोग अभी भी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थानों को बंद रखने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इसके लिए सरकार को अभी वैकल्पिक व्यवस्था यानी डिजिटल सिस्टम को बेहतर बनाने के साथ उसे बढ़ावा देने की जरूरत है। लोग पार्क और मॉल को भी अभी बंद रखने की मांग कर रहे हैं। वहीं कुछ लोग 50% कैपिसिटी के साथ रेस्तरां और होटल को खोलने की मांग कर रहे हैं।

झारखंड के लोग CM से वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने की भी मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि वैक्सीन के पहला डोज लगवाने की रफ्तार के साथ दूसरा डोज लेने वालों की भी संख्या बढ़ाई जाए। जो दोनों डोज लगवा लिए हों बाहर निकलने का वही उनका मान्य पास माना जाए।

Back to top button