देश

जॉनसन एंड जॉनसन इस महीने तक US को वैक्सीन के 10 करोड़ डोज करेगी सप्लाई  

अमेरिका में इमरजेंसी यूज का अप्रूवल पाने वाली तीसरी वैक्सीन जैनसेन के मार्च तक 2 करोड़ डोज मिल जाएंगे। इसे बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन का कहना है कि यह संख्या जून तक 10 करोड़ की जाएगी।

कंपनी के चीफ साइंटिफिक ऑफिसर डॉ. पॉल स्टोफेल्स ने कहा कि यह सिंगल शॉट वैक्सीन है। इस लिहाज से हमारी वैक्सीन के जरिए गर्मी तक 10 करोड़ अमेरिकियों को वैक्सीनेट किया जा सकेगा।

उधर, जर्मनी में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 70 हजार के पार हो गई है। अब तक यहां 70,718 लोग संक्रमण से जान गंवा चुके हैं। इनमें 1,460 की जान बीते 24 घंटे में गई है। सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में जर्मनी का नंबर 10वां है। हालांकि, मौत के मामले में यह देश 8वें नंबर पर है।

WHO ने कहा- 10% से कम लोगों में एंटीबॉडी डेवलप हुई
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने कहा कि दुनिया में 10% से भी कम लोगों में कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए एंटीबॉडी डेवलप हो पाई है। चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने बताया कि सिर्फ वैक्सीनेशन के जरिए ही हम ज्यादा से ज्यादा लोगों में हर्ड इम्यूनिटी डेवलप कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि मौजूदा वक्त में लगाई जा रही वैक्सीन कोरोना के सीवियर केसों पर कारगर साबित हो रही है। माइल्ड डिसीज और बिना लक्षण वाले संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन कितनी असरदार है, इस पर स्टडी की जा रही है।

नेपाल के आर्मी चीफ ने भारत में बनी वैक्सीन का पहला डोज लिया
नेपाल के चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ पूर्ण चंद्र थापा ने सोमवार को भारत में बनी कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया। पिछले महीने ही भारत की ओर से 10 लाख टीके की दूसरी खेप नेपाल भेजी गई थी।
इस वैक्सीन को ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका ने डेवलप किया है। भारत में इसे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोवीशील्ड के नाम से बना रहा है। वैक्सीन मैत्री पहल के तहत भारत अपने पड़ोसी देशों को टीके उपलब्ध करा रहा है।

नेपाल ने 10 लाख डोज की पहली खेप मिलने के बाद पूरे देश में हेल्थ वर्कर्स का वैक्सीनेशन शुरू कर दिया था। उसने जनवरी में कोवीशील्ड को इमरजेंसी यूज के लिए अप्रूवल दिया था। दूसरी खेप में मिली वैक्सीन 60 साल से ऊपर के लोगों को दी जाएगी। नेपाल में इनकी आबादी 8.73% है। इन्हें 7 मार्च से टीका लगाया जाएगा।

अमेरिका ने शनिवार को जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन ‘जैनसेन’ को इमरजेंसी अप्रूवल दिया था। मॉडर्ना और फाइजर के बाद देश में अप्रूवल पाने वाली यह तीसरी वैक्सीन है। CNN के मुताबिक, यह अमेरिका की पहली सिंगल डोज वैक्सीन है। व्हाइट हाउस के सीनियर ऑफिसर एंडी स्लाविट ने सोशल मीडिया पर कहा था कि तीसरी सेफ और इफेक्टिव वैक्सीन का आना बहुत अच्छी खबर है।

इस वैक्सीन का ट्रायल अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और लैटिन अमेरिका के 44 हजार से ज्यादा लोगों पर किया गया था। US फूड एंड ड्रग रेगुलेटरी एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, यह वैक्सीन कोरोना के मॉडरेट और क्रिटिकल मरीजों को दी गई। इस दौरान यह 66.1% इफेक्टिव रही।

ब्रिटेन पहुंचा ब्राजील वाला कोरोना वैरिएंट
ब्राजील में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन के मामले अब ब्रिटेन में मिलने लगे हैं। रविवार को यहां कोरोना के इस वैरिएंट के 6 मामले सामने के आने के बार हेल्थ अथॉरिटी हरकत में आ गई है। इनमें से 3 मामले इंग्लैंड और 3 मामले स्कॉटलैंड में पाए गए हैं।

फ्रांस में भी बढ़ रहे केस
फ्रांस में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 19,952 मामले सामने आए हैं। इस दौरान 122 संक्रमितों की मौत भी हुई। फ्रांस में अब तक कुल 37 लाख 55 हजार 968 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। महामारी से अब तक कुल 86,454 लोगों की जानें भी गईं हैं। पब्लिक हेल्थ एजेंसी के मुताबिक, पिछले 7 दिनों में यहां करीब 10 हजार संक्रमितों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। इनमें 1871 लोग वेंटिलेटर्स पर हैं।

कुल मरीज 11.48 करोड़ से ज्यादा
दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 11.48 करोड़ से ज्यादा हो गया। 9 करोड़ 4 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 25 लाख 45 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

टॉप-10 देश, जहां अब तक सबसे ज्यादा लोग संक्रमित हुए

देश संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 29,259,111 525,795 19,694,344
भारत 11,122,986 157,257 10,796,164
ब्राजील 10,551,259 255,018 9,411,033
रूस 4,257,650 86,455 3,823,074
UK 4,182,009 122,953 2,959,884
फ्रांस 3,755,968 86,454 254,868
स्पेन 3,188,553 69,142 2,647,446
इटली 2,938,371 97,945 2,416,093
तुर्की 2,701,588 28,569 2,572,234
जर्मनी 2,451,964 70,729 2,255,500

(ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus/ के मुताबिक हैं) 

Back to top button