देश

जेट एयरवेज ने रद्द की अपनी 10 उड़ाने, हवाई अड्डे पर यात्रियों की बढ़ी परेशानी

जेट एयरवेज ने रविवार को अचानक अपनी 10 उड़ानों को रद्द कर दिया जिसकी वजह से यात्री हवाई अड्डे पर असहाय नजर आए। जेट एयरवेज का कहना है कि छत्रपति शिवाजी महाराज अतरंराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ानों को परिचालन कारणों की वजह से रद्द किया गया। हालांकि एयरलाइन के सूत्रों का कहना है कि उड़ाने रद्द पायलटों की कमी के कारण हुईं। 

इस मामले पर एयरलाइन ने एक बयान जारी कर कहा, ‘जेट एयरवेज को 18 नवंबर को अपनी कुछ घरेलू उड़ानें परिचालन कारणों की वजह से रद्द करनी पड़ीं। इन विमानों के प्रभावित यात्रियों को विमान के स्टेटस के बारे में मैसेज के जरिए सूचित कर दिया गया था। नियामक नीति के अनुसार यात्रियों को दूसरी उड़ान में भेजा जाएगा या फिर उनके पैसे वापस कर दिए जाएंगे।’ 

एयरलाइन का कहना है कि उसे यात्रियों को हुई असुविधा का खेद है। एयरलाइन के सूत्र का कहना है कि एयरलाइन अपने पायलटों, इंजीनियरों और वरिष्ठ प्रबंधन को पिछले कुछ समय से नियमित वेतन नहीं दे रही है। पैसों की कमी के चलते नरेश गोयल के स्वामित्व वाली एयरलाइन ने हालिया समय में बहुत अच्छे पायलटों को खो दिया है। कई पायलटों को दूसरे पायलटों की कमी पूरी करने के लिए ओवरटाइम करना पड़ता है।

सूत्र ने आगे बताया, ‘रविवार को जेट एयरवेज मुंबई से कम से कम 10 उड़ानों का परिचालन करने में असफल रही क्योंकि उसके पास पर्याप्त मात्रा में पायलट नहीं हैं। अचानक रद्द हुई उड़ानों के कारण जिन यात्रियों ने बुकिंग करवाई थी वह हवाई अड्डे पर असहाय दिखाई दिए।’ सूत्र का कहना है कि आने वाले कुछ दिनों में पायलटों की कमी पूरी होने वाली नहीं है क्योंकि कंपनी ने नए पालयट हायर नहीं किए हैं।

Back to top button