देश

जयपुर-जोधपुर सहित 9 जिलों में हो रहीं 70% मौतें.. राजस्थान में लगेगा टोटल लॉकडाउन !

जयपुर.

राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या 6.85 लाख हो गई है। इसमें 1.96 लाख एक्टिव केस हैं। गुरुवार को यह आंकड़ा 2 लाख तक पहुंच सकता है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के बीच बुधवार को राहत की खबर आई। 64 दिन बाद राजस्थान में नए मिले कोरोना पॉजिटिव केसों से ज्यादा रिकवर हुए मरीजों की संख्या रही। बुधवार को 17 हजार 22 मरीज ठीक हुए। 16 हजार 815 नए संक्रमित सामने आए। इस बीच, परेशान करने वाली बात यह है कि राजस्थान में कोरोना से हो रही मौतों की संख्या कम नहीं हो रही। यहां रोजाना 150 से ज्यादा लोग दम तोड़ रहे हैं। अब तक 5 हजार 21 लाेग जान गंवा चुके हैं। दूसरी तरफ, प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी शुरू हो गई है। शाम तक इस पर सरकार निर्णय लेगी।

आज 5 मंत्रियों की कमेटी सौंपेगी रिपोर्ट

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में बुधवार देर रात तक मंत्रिमंडल की मीटिंग चली। इसमें प्रदेश में 7 मई से अगले 9 दिनों तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इसका निर्णय लेने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 5 मंत्रियों की कमेटी गठित की है। यह कमेटी गुरुवार शाम तक अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपेगी। इसके बाद सिफारिशों को तत्काल लागू कर दिया जाएगा। इसमें शादी-ब्याह के आयोजन पर पूरी तरह से रोक लगाने का निर्णय भी शामिल हो सकता है। वहीं, चुनाव आयोग ने राजस्थान में वल्लभ नगर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को भी टाल दिया है।

आज गुजरात से कोटा ऑक्सीजन लाएगी ट्रेन

राजस्थान में अभी तक कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन और बेड की किल्लत बरकरार है। प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार यूं ही बढ़ती रही, तो आगामी 15 मई तक 795 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत होगी। फिलहाल 351 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही उपलब्ध है, जबकि 615 मीट्रिक टन की आवश्यकता है। इस बीच, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला की दखल के बाद गुरुवार को पहली बार गुजरात के जाम नगर से 40 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर एक ट्रेन कोटा पहुंचेगी।

प्रदेश के 9 जिलों में 61 फीसदी मरीज और 70 प्रतिशत मौतें

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में जयपुर सहित 9 जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। यहां संक्रमण की रफ्तार इतनी तेज है कि कुल संक्रमितों में से 61 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव केस इन्हीं 9 जिलों में आ रहे हैं। कोरोना से हो रही कुल मौतों में 70 फीसदी मौत भी इन्हीं 9 जिलों में है। ये नौ जिले जयपुर, जोधपुर, कोटा, अलवर, उदयपुर, बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और सीकर हैं। बुधवार को जयपुर में 43, जोधपुर में 20, उदयपुर में 19, बीकानेर में 8, अलवर में 7, कोटा में 6, डूंगरपुर में 5, सीकर और गंगानगर में 3-3 मरीजों ने दम तोड़ा।

उप चुनाव वाले पांच जिलों में कोरोना विस्फोट

पिछले दिनों राजस्थान के 5 जिलों राजसमंद, भीलवाड़ा, चुरू, नागौर और सवाईमाधोपुर में विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव हुए थे। इसके बाद इन जिलों के गांवों में अब कोरोना विस्फोट हो रहा है। चिकित्सा विभाग के अनुसार, ग्रामीण जिलों में 35 फीसदी तक नए कोरोना रोगी सामने आ रहे हैं। हालात यह है कि राजसमंद में पिछले एक माह में एक्टिव केसों की संख्या 671 से 4760, भीलवाड़ा में 625 से 9157, चुरू में 14 से 4033, नागौर में 189 से 1564 और सवाईमाधोपुर में 294 से 4479 तक पहुंच गई है। इनमें बाड़मेर, धौलपुर, राजसमंद और प्रतापगढ़ जैसे जिलों में भी रोजाना 200 नए केस मिले रहे हैं। हालत यह है कि पाली जिले के जैतारण कस्बे में नेत्र चिकित्सालय में बने कोविड सेंटर में नीम के पेड़ के नीचे मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही है। झालावाड़ में मध्यप्रदेश से आने वाले लोगों को रोका नहीं जा रहा है। करौली जिले में लोग खुद ही लक्षण के आधार पर दवा ले रहे हैं।

Back to top button