खेल

चीते जैसी कमाल की फुर्ती के साथ पंत ने इस बल्लेबाज को पवेलियन भेज सभी को चौंकाया, देखें Video

अहमदाबाद
भारत और इंग्लैंड के बीच इस टेस्ट सीरीज की बात करते हुए आप मुद्दों पर चर्चा करेंगे। अक्षर पटेल की बोलिंग, रविचंद्रन अश्विन की फिरकी और चेन्नै में लगाई गई सेंचुरी, वॉशिंगटन सुंदर की उपयोगी पारियां और ऋषभ पंत का अहमदाबाद में चौथे टेस्ट में लगाया गया शतक। पर इन सबके बीच एक चीज जो सबसे हटकर नजर आई वह थी ऋषभ पंत की विकेटकीपिंग। पंत की कीपिंग इस सीरीज के साथ-साथ बेहतर होती चली गई है।

चेन्नै की पिच हो या फिर अहमदाबाद की। बल्लेबाजी के लिए चुनौतीपूर्ण समझे जाने वाली विकेट पर विकेटकीपिंग भी आसान नहीं होती। एक गलती बहुत भारी पड़ सकती है। आपको हर गेंद के लिए खुद को तैयार रखना पड़ता है। ऐसे में भारतीय टीम प्रबंधन के सामने अकसर यही दुविधा होती थी कि यहां पंत को मौका दें या ऋद्धिमान साहा को। साहा विकेट के पीछे जबर्दस्त हैं लेकिन पंत की बल्लेबाजी उन्हें बढ़त दिलाती है। लेकिन यह सवाल भी उठता है कि कहीं पंत की एक चूक टीम को भारी तो नहीं पड़ जाएगी। अगर आप इस सीरीज को देखें तो इस विकेटकीपर ने दस्तानों का शानदार काम दिखाया है।

पंत ने चेन्नै में खेले गए दूसरे टेस्ट और अहमदाबाद में सीरीज के तीसरे मुकाबले में बहुत अच्छी कीपिंग की। वह गेंद की लाइन में आ रहे थे और उसे आराम से गेदर कर रहे थे। टीवी कॉमेंटेटर हर्षा भोगले ने चौथे टेस्ट मैच के तीसरे दिन कहा कि पंत की विकेटकीपिंग इस सीरीज में सबसे बड़ा ‘बदलाव है।’

ऐसे किया था पोप को स्टंप

पंत कितने चपल हो गए हैं इसका उदाहरण अहमदाबाद में मैच के तीसरे दिन इंग्लैंड की पारी के 32 वें ओवर में देखने को मिला। ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर की गेंद टप्पा लगने के बाद तेजी से लेग स्टंप के बाहर निकली। पंत ने फुर्ती दिखाते हुए गेंद को पकड़ा। वह लेग स्टंप के कम से कम तीन फुट बाहर थी। इसके बाद उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के स्टाइल में गेंद को फ्लिक किया और गिल्लियां उड़ा दीं। हालांकि बल्लेबाज बेन फोक्स का पांव क्रीज में ही था लेकिन पंत की फुर्ती की तारीफ सभी ने की ।

‘अहमदाबाद में पंत में घुसी धोनी की आत्मा’
उस समय आधिकारिक प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्टस पर हिंदी में कॉमेंट्री कर रहे आकाश चोपड़ा ने कहा, ‘धोनी की आत्मा पंत में घुस गई।’ यह महेंद्र सिंह धोनी का स्टाइल रहा है और इससे उन्होंने कई बार बल्लेबाजों को छकाया है। अंग्रेजी में कॉमेंट्री कर रहे सुनील गावसकर भी इससे काफी प्रभावित हुए और उन्होंने कहा कि पंत लगातार बेहतर होते जा रहे हैं। उन्होंने वही किया जो धोनी करते थे। शुरुआत में कोई धोनी से ऐसी उम्मीद नहीं करता था कि वह गेंद को ऐसे फ्लिक करेंगे लेकिन बाद में उन्होंने इसे अपना स्टाइल बना लिया।

Back to top button