उत्तर प्रदेश

ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहा कोरोना पर वार, संक्रमण से बचाने को घर-घर पहुंच रही रैपिड रिस्पांस टीम

बहराइच l ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना पर काबू पाने के लिए रैपिड रिस्पांस टीम के सदस्यों को विशेष जिम्मेदारी दी गयी है। टीम के विशेषज्ञ सदस्य संक्रमण की सूचना पर मरीज के घर पहुंचकर दवा और उचित सलाह दे रहे हैं। इसके अलावा उपचार के दौरान मोबाइल पर सेहत की जानकारी भी ली जा रही है।

पयागपुर ब्लॉक क्षेत्र में रैपिड रिस्पांस टीम ने बस स्टॉप, काशीजोत, रजुवापुर, सेमरियावां, पिपरा, सहसरांवा, हत्वागोपाल सहित कई गांवों में संक्रमित व्यक्तियों को दवा व सलाह दी गई। परिजनों व सम्पर्क के लोगो के एंटीजन टेस्ट भी किये गए। सीएचसी पयागपुर के चिकित्सा अधीक्षक डॉ मृत्युंजय पाठक ने बताया कि पयागपुर ब्लाक क्षेत्र में चार रैपिड रिस्पांस टीम तथा तीन टीम सैम्पलिंग के लिए गठित की गई है। ये टीमें आशाओं द्वारा दी गई सूचना के आधार पर घर-घर जाकर सैम्पलिंग व एंटीजन किट से जांच कर रही हैं। उन्होंने बताया कि टेस्ट रिपोर्ट के बाद किसी पॉजिटिव मरीज का डाटा पोर्टल पर आता है तो उसमें दिये गए पते तथा फोन नंबर की सहायता से उनकी टीम संक्रमित व्यक्ति के घर पर पहुंचती है। इसके अलावा उपचाराधीन मरीज को स्वास्थ्य विभाग की ओर से दवाइयों की किट प्रदान की जाती है। साथ ही टीम के विशेषज्ञ सदस्य पल्स आक्सीमीटर से ऑक्सीजन स्तर भी जांचते हैं तथा किसी भी स्थिति का आंकलन कर उपचार के अगले चरण की जानकारी मौके पर ही उपलब्ध कराते हैं।

इस दौरान एसएमओ डब्ल्यूएचओ डॉ विपिन ने ग्राम काशीजोत में रैपिड रिस्पांस टीम के कार्यो का औचक निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए । इस मौके पर डॉ अशोककुमार,एडीओ वीरेंद्र मिश्रा बीपीएम अनुपम शुक्ल अशोक मिश्र एलटी पवन कुमार बीएचडब्ल्यू रंजना कुमारी आशा सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Back to top button