उत्तर प्रदेश

गोरखपुर : जनता दरबार मे फिर पुलिस की शिकायतों का भरमार, आखिर कब सुधरेगी थानों की पुलिस

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिन के गोरखपुर दौरे पर हैं। शनिवार को सीएम ने गोरखनाथ मंदिर में जनता दरबार लगाया। इस दौरान सर्वाधिक शिकायतें पुलिस से जुड़ी थीं। किसी ने समय से कार्रवाई नहीं होने का प्रार्थनापत्र दिया तो किसी ने पुलिस पर सुनवाई नहीं करने का आरोप लगाया। इस दौरान एक महिला ने अपनी फरियाद लगाते हुए सीएम के सामने फूट फूटकर रोने लगी। महिला को रोता देख अधिकरियों में हड़कंप मच गया।

सीएम ने तत्काल महिला की शिकायत पर कार्रवाई का निर्देश दिया।वहीं, पुलिस के खराब आचरण की भी शिकायत की गई। इस पर मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि थानों में आने वाली जनता की शिकायतों का त्वरित एवं गुणवत्तापूर्ण निस्तारण होना चाहिए। टालमटोल और जानबूझ कर देरी करने वालों पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने आला अफसरों से थानों में आने वाली शिकायतों और उनके निस्तारण की स्थिति की नियमित समीक्षा करने का निर्देश भी दिया।शनिवार को गोरखनाथ मंदिर के दो स्थानों हिंदू सेवाश्रम व यात्री निवास में आयोजित मुख्यमंत्री के जनता दर्शन में 150 से अधिक लोग पहुंचे थे।

सीएम ने गोरखनाथ मंदिर के प्रधान कार्यालय के पास स्थित लाल कक्ष में 50 से ज्यादा कार्यकर्ताओं और आम जन की समस्याओं को सुना। जनता दर्शन का कार्यक्रम सुबह 7.30 से 8.30 बजे तक चला। हिंदू सेवाश्रम में सुनवाई के दौरान काफी संख्या में पुलिस थानों से संबंधित शिकायतें मिलीं।अधिकांश फरियादियों का आरोप था कि थाने में बार-बार शिकायत के बाद भी सुनवाई नहीं होती। काफी संख्या में राजस्व से जुड़े मामले भी आए। मुख्यमंत्री ने कमिश्नर रवि कुमार एनजी से कहा कि तहसील दिवस और थाना दिवस में आने वाली सभी शिकायतों को गंभीरता से लिया जाए। थानों एवं तहसीलों में आने वाली शिकायतों का निस्तारण त्वरित और गुणवत्ता पूर्ण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता को उसके मामले में की गई कार्रवाई से संतुष्ट किया जाना चाहिए। इस दौरान कमिश्नर रवि कुमार एनजी, डीएम विजय किरन आनंद, एसएसपी विपिन टाडा समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Back to top button