उत्तर प्रदेश

गोरखपुर : आयुष विश्वविद्यालय के लिए 92.72 करोड़ की दूसरी क़िस्त जारी

गोरखपुर। जिले के भटहट ब्लॉक के पिपरी में निर्माणाधीन महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय के लिए 92.72 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त जारी कर दी गई है। पहली किस्त के रूप में 6.11 करोड़ रुपये मिले थे जिससे बाउंड्रीवाल का काम जारी है।करीब दो महीने पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों इस विश्वविद्यालय का शिलान्यास हुआ।

52 एकड़ में बनने वाला यह विश्वविद्यालय मार्च 2023 तक संचालित करने का लक्ष्य है। 24 अगस्त को आयुष विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए 02.67 अरब रुपये की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुए 6.11 करोड़ रुपये की प्रथम किस्त अवमुक्त कर दी गई। मंगलवार को गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीएम से आयुष विश्वविद्यालय के निर्माण की प्रगति भी पूछी।सूबे के पहले आयुष श्विविद्यालय के एक ही परिसर में आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथी, प्राकृतिक चिकित्सा, योग, सिद्धा की चिकित्सा पद्धति सभी की कक्षाएं चलेगी। विश्वविद्यालय का वास्तुशिल्प भारतीय संस्कृति के अनुरूप बनाया जाएगा। एकेडमिक भवन, प्रशासनिक भवन, आवासीय भवन, छात्रावास, गेस्ट हाउस के अलावा आडिटोरियम और सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक भी होगा। राज्य में आयुष विधा के वर्तमान में 94 कॉलेज अलग अलग विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से संबद्ध हैं। सभी को समन्वित रूप से आयुष विश्वविद्यालय से संबद्ध किया जाएगा।

इससे इन कॉलेजों के डिग्री व डिप्लोमा के पाठ्यक्रमों में एकरूपता रहेगी और सत्र का नियमन भी सहज होगा।आयुष विश्वविद्यालय में आयुर्वेदिक, यूनानी, सिद्धा, होम्योपैथी और योग चिकित्सा की पढ़ाई और उस पर शोध कार्य भी होगा। औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा देने के साथ औषधीय पादप उद्यान भी विकसित होगा।

Back to top button